S M L

ओलांद का बयान साबित करता है कि राफेल करार बड़ा घोटाला है: संजय सिंह

शुक्रवार को फ्रांसीसी मीडिया में आई खबर में ओलांद के हवाले से कहा गया कि 58,000 करोड़ रुपए के राफेल करार में डसाल्ट एविएशन के लिए साझेदार के तौर पर अनिल अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस डिफेंस को चुनने का प्रस्ताव भारत सरकार की ओर से दिया गया था

Updated On: Sep 22, 2018 05:05 PM IST

Bhasha

0
ओलांद का बयान साबित करता है कि राफेल करार बड़ा घोटाला है: संजय सिंह

आम आदमी पार्टी (आप) के नेता संजय सिंह ने शनिवार को कहा कि राफेल करार पर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के बयान ने साबित कर दिया है कि यह 'बड़ा घोटाला' है.

राज्यसभा सांसद सिंह ने यह टिप्पणी ऐसे समय में की है जब शुक्रवार को फ्रांसीसी मीडिया में आई खबर में ओलांद के हवाले से कहा गया कि 58,000 करोड़ रुपए के राफेल करार में डसाल्ट एविएशन के लिए साझेदार के तौर पर अनिल अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस डिफेंस को चुनने का प्रस्ताव भारत सरकार की ओर से दिया गया था और फ्रांस के पास कोई दूसरा विकल्प नहीं था.

फ्रांसीसी भाषा की खबरिया वेबसाइट 'मीडियापार्ट' ने अपनी एक खबर में ओलांद के हवाले से कहा था, 'भारत सरकार ने हमें इस कंपनी का प्रस्ताव दिया था और डसाल्ट ने अंबानी से बातचीत की थी. हमारे पास कोई विकल्प नहीं था, हमने उस पक्षकार को अपनाया जो हमें दिया गया था.'

यह पूछे जाने कि रिलायंस को साझेदार के तौर पर किसने और क्यों चुना, इस पर ओलांद ने जवाब दिया, 'इस पर हमारा कोई जोर नहीं था.'

नागपुर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा, 'फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद की ओर से राफेल डील पर दिया गया बयान चौंकाने वाला है और यह साबित करता है कि राफेल करार एक बड़ा घोटाला था.'

उन्होंने कहा, 'मोदी सरकार को बताना चाहिए कि ऑफसेट ठेका रिलायंस डिफेंस को क्यों दिया गया. ओलांद का बयान साबित करता है कि मोदी सरकार ने ऑफसेट ठेका दिलाने के लिए रिलायंस डिफेंस को फायदा पहुंचाया.'

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi