S M L

बुढ़ापे में मिट गए अंगुलियों के निशान, आधार बिना तरसे बुजुर्ग

अगर कोई बुजर्ग आधार बनवाना भी चाहता है तो फिंगरप्रिंट मशीन उनके अंगुलियों के निशान नहीं ले पा रहीं

Updated On: Feb 09, 2018 12:12 PM IST

FP Staff

0
बुढ़ापे में मिट गए अंगुलियों के निशान, आधार बिना तरसे बुजुर्ग

बुढ़ापा किस कदर लोगों का जीना मुहाल कर देती है, इसे जानना हो तो बरेली की इस खबर का रुख करें. यहां के बृद्धाश्रमों में लोगों की आजकल निंद हाराम हो गई है. क्योंकि इनके पास आधार न होने के कारण इन्हें तो कोई सुविधा मिल पा रही है और न ही पेंशन. अगर कोई बुजर्ग आधार बनवाना भी चाहता है तो फिंगरप्रिंट मशीन उनके अंगूलियों के निशान नहीं ले पा रहीं. उम्र गुजरने के साथ अंगुलियों के निशान कमजोर पड़ते हैं. लिहाजा इन बुजुर्गों की जिंदगी भी कमजोर पड़ती जा रही है.

फिंगरप्रिंट नहीं पहचानतीं मशीनें

बरेली के एक वृद्धाश्रम में जिंदगी बसर करने वाली वीरवती का कहना है कि उनके पास आधार न होने के कारण वे सारी सुविधाओं से मुहाल हो गई हैं. अब उनकी टकटकी हमेशा इस ओर होती है कि कोई भी आए और कुछ मदद कर जाए. वीरवती के पास कोई कागजात भी नहीं है जिससे वे आधार बना सकें. अगर बनवाने की प्रबल इच्छा है भी तो आधार की फिंगरप्रिंट मशीनें बुढ़ापे में लगभग मिट चुकीं अंगुलियों की निशानी को नहीं पकड़ पा रहीं. अब वीरवती के सामने मुश्किल यह है कि वे जाएं तो कहां जाएं.

बिना आधार सुविधा कैसे?

बरेली के ही सामाजिक कल्याण अधिकारी अशोक दीक्षित की मानें तो इस इलाके में कई लोग ऐसे हैं जिनका अपना कोई आधार नहीं है. दीक्षित के मुताबिक, अगर कोई व्यक्ति पेंशन के लिए अप्लाई करता है तो उससे आधार मांगा जाता है. ऐसे लोगों को सारी सुविधाएं आधार पर ही दी जाती हैं. इन सुविधाओं में मुफ्त भोजन और आवास की सुविधा शामिल है लेकिन आधार न होना उन्हें सुविधाओं से वंचित कर रहा है.

पेंशन में कितनी राशि

60 से 79 साल के बुजुर्गेों को 400 रुपए प्रतिमाह पेंशन मिलती है. 80 साल से ज्यादा उम्र वालों को यह राशि 500 रुपए है.

यूपी सरकार ने अभी हाल में सुप्रीम कोर्ट में एक हलफनामा दायर कर यह भरोसा दिया था कि सरकार हर हाल में मेंटिनेंस एंड वेलफेयर ऑफ पैरेंट्स एंड सीनियर सिटिजन्स एक्ट 2007 के प्रावधानों को लागू करेगी. इस एक्ट के तहत बुजुर्गों को पेंशन और कई सुविधाएं देने का प्रबंध है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi