S M L

उत्तराखंड: देवरानी को बचाने के लिए खूंखार तेंदुए से भिड़ गई जेठानी

महिला ने डटकर मुकाबला किया जिससे तेंदुआ नाकाम होकर जंगलों में भाग गया. मगर तेंदुए ने जाते-जाते दोनों महिलाओं को अपने पंजों के खरोंचों से घायल कर दिया

Updated On: Oct 09, 2017 03:29 PM IST

Bhasha

0
उत्तराखंड: देवरानी को बचाने के लिए खूंखार तेंदुए से भिड़ गई जेठानी

तेंदुए का नाम लेते ही जेहन में खौफ भर जाता है. चलते हुए बीच रास्ते अगर तेंदुआ दिख जाए तो बड़े-बड़ों के होश उड़ जाते हैं. मगर उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले में एक महिला अपनी देवरानी को खूंखार तेंदुए के पंजे से बचाने के लिए उससे भिड़ गई.

महिला ने दिलेरी दिखाते हुए तेंदुए का डटकर मुकाबला किया जिससे तेंदुआ नाकाम होकर जंगलों में भाग गया. लेकिन जाते-जाते तेंदुए ने अपने पंजों के खरोंचों से दोनों महिलाओं को गंभीर रूप से घायल कर दिया.

अलमोड़ा के प्रभागीय वन अधिकारी आरएस प्रजापति ने सोमवार को बताया कि घटना जिले के हवालबाग क्षेत्र के पिलखा गांव में रविवार सुबह की है. रिश्ते में देवरानी-जेठानी ये महिलाएं घास काटने गई थीं. अचानक वहां पहले से घात लगाकर बैठे तेंदुए ने घास काट रही 24 साल की पूजा पर पीछे से हमला कर दिया. पूजा की चीख-पुकार सुनकर पास ही घास काट रही उसकी उसकी जेठानी उमा देवी अपनी दरांती लेकर तेंदुए से भिड़ गई. कुछ देर तक चले भीषण संघर्ष के बाद तेंदुआ दोनों महिलाओं को छोड़कर भाग गया.

तेंदुए के हमले में घायल दोनों महिलाओं को जिला अस्पताल मे भर्ती कराया गया है. इलाज के बाद अब उनकी हालत खतरे से बाहर है.

वन अधिकारी ने बताया कि घायल महिलाओं में से प्रत्येक को वन विभाग की ओर से 50 हजार रुपए का मुआवजा दिया जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi