S M L

चतरा: नाबालिग लड़की को गैंगरेप के बाद जिंदा जलाया, 14 गिरफ्तार

इस घटना में 98 प्रतिशत तक झुलस गई पीड़ित लड़की की अस्पताल में मौत हो गई. गिरफ्तार सभी 14 आरोपियों पर पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है

Bhasha Updated On: May 05, 2018 02:10 PM IST

0
चतरा: नाबालिग लड़की को गैंगरेप के बाद जिंदा जलाया, 14 गिरफ्तार

सरकार द्वारा पॉक्सो एक्ट में कड़े बदलावों के बाद भी देश में महिलाओं और लड़कियों के साथ रेप की घटनाओं में कमी नहीं आ रही है. झारखंड के चतरा में झकझोर देने वाली घटना में एक नाबालिग लड़की को कथित रूप से गैंगरेप के बाद जिंदा जला दिया गया.

जिले के इटखोरी के राजाकेंदुआ गांव में हुई इस घटना में पीड़ित लड़की 98 प्रतिशत तक झुलस गई. लड़की को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसकी मौत हो गई.

आईजी पुलिस आशीष बत्रा ने बताया कि इस मामले में गांव की मुखिया तिलेश्वरी देवी और पंचायत समिति के सदस्य रंजय रजक समेत 14 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इन सभी आरोपियों पर इटखोरी थाने में पोक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है.

पुलिस ने बताया कि आरोपी ने अपने दोस्तों के साथ गुरुवार रात युवती के घर में घुसकर उसके अभिभावकों पर हमला किया और कथित रूप से उसे जला दिया.

पुलिस सूत्रों ने बताया कि लड़की के परिजनों की शिकायत के बाद घटना के अगले दिन गांव में एक पंचायत बैठी. जिसमें आरोपी पर 50 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया. आरोपी परिवार ने पंचायत के माध्यम से पीड़ित लड़की के परिजनों को जुर्माना रुपए देकर मामला रफा-दफा करने की कोशिश की, लेकिन वो नहीं माने.

इससे गुस्साए आरोपी के परिवारवालों ने लड़की के पिता को भरी पंचायत में पीटा और पीड़ित लड़की के घर में घुसकर उसे जिंदा जला दिया.

इस वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी परिवार गांव से फरार है. पुलिस ने बताया कि घटना के मुख्य आरोपी समेत अन्य लोगों को पकड़ने के प्रयास जारी हैं.

पुलिस ने लड़की के जले हुए शव को बरामद कर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. मृतक लड़की के पिता के बयान के आधार पर पुलिस ने कई लोगों के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज किया है.

इस बीच प्रशासन की तरफ से पीड़ित लड़की के परिवार को तत्काल एक लाख रुपए की आर्थिक सहायता राशि दी गई है.

मुख्यमंत्री रघुबर दास ने पुलिस-प्रशासन को दोषियों पर तुरंत कार्रवाई करने का निर्देश दिया है. उन्होंने कहा कि इस घटना के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा.

राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी जेएमएम ने इस घटना को लेकर सरकार पर हमला बोला है. पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि बीजेपी की सरकार में महिलाएं और लड़कियां सुरक्षित नहीं है. अपराधी उन्हें दिनदहाड़े अपना निशाना बनाते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
कोई तो जूनून चाहिए जिंदगी के वास्ते

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi