S M L

त्रिपुरा: जब अफवाह के खिलाफ प्रचार करने वाला खुद बना अफवाह का शिकार

चक्रवर्ती राज्य के सूचना एवं संस्कृति विभाग की एक टीम का सदस्य था जो अफवाहों के खिलाफ अभियान चला रही थी

Updated On: Jun 29, 2018 03:28 PM IST

Bhasha

0
त्रिपुरा: जब अफवाह के खिलाफ प्रचार करने वाला खुद बना अफवाह का शिकार

त्रिपुरा के अलग - अलग हिस्सों में बच्चा-चोर होने के संदेह में त्रिपुरा सूचना एवं संस्कृति विभाग के एक सदस्य सहित दो लोगों की पीट - पीट कर हत्या की दी गई. सहायक पुलिस महानिरीक्षक स्मृति रंजन दास ने बताया कि गुरुवार रात दक्षिण त्रिपुरा जिले के कलाछारा में बच्चा-चोर होने के संदेह में भीड़ ने सुकांत चक्रवर्ती (33) की पीट - पीट कर हत्या कर दी.

चक्रवर्ती राज्य के सूचना एवं संस्कृति विभाग की एक टीम का सदस्य था जो अफवाहों के खिलाफ अभियान चला रही थी. दास ने बताया कि चक्रवर्ती पर उस समय हमला किया गया जब उनकी टीम सबरूम से लौट रही थी.

पीट- पीटकर हत्या की घटनाओं को देखते हुये त्रिपुरा पुलिस महानिदेशक ए के शुक्ला ने अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए पूरे राज्य में अगले 24 घंटे के लिए एसएमएस और इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी है. मुख्यमंत्री बिप्लब देव ने शुक्रवार को लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की और कहा कि राज्य में कोई बच्चा-चोर नहीं है.

उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार की छवि को धूमिल करने के लिए यह सीपीएम की साजिश है. सिपाहीजाला जिला के बिशालगढ़ में कल एक अज्ञात महिला की उस समय पीट-पीटकर हत्या कर दी गई जब वह चार लोगों के साथ एक वाहन में जा रही थी. पिटाई के कारण एक व्यक्ति घायल हो गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi