S M L

दिल्ली: गर्लफ्रेंड के प्यार में अंधे होकर दोस्त ने दोस्त का किया मर्डर

पुलिस ने सीसीटीवी से मिले सुराग के बाद हत्या में शामिल तीनों युवकों को गिरफ्तार कर लिया है. पकड़ा गया एक आरोपी नाबालिग है

FP Staff Updated On: Oct 31, 2017 03:48 PM IST

0
दिल्ली: गर्लफ्रेंड के प्यार में अंधे होकर दोस्त ने दोस्त का किया मर्डर

दिल्ली में गर्लफ्रेंड की खातिर एक दोस्त द्वारा अपने ही दोस्त की हत्या कर देने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. आरोपी युवक दिल्ली विश्वविद्यालय का छात्र है. आरोप है कि उसने अपने दो साथियों के साथ मिलकर इस गुनाह को अंजाम दिया है.

आरोपी युवक को शक था कि जयदीप गोयल उर्फ जतिन उसकी गर्लफ्रेंड पर डोरे डाल रहा है. उसे यह बात नागवार गुजरी और उसने अपने दो दोस्तों के साथ जतिन के मर्डर का प्लान बनाया. शनिवार को तीनों जतिन को लेकर महरौली में फार्म हाउस के पीछे जंगलों में ले गए. सुनसान इलाका देखकर उन्होंने गला दबाकर जतिन की हत्‍या कर दी. किसी को उनके अपराध का पता नहीं चले इसके लिए तीनों युवकों ने गड्ढा खोदकर जतिन की लाश को वहीं दफना दिया.

शातिर दिमाग तीनों आरोपियों ने इसके बाद पैसा कमाने के लिए जतिन के घरवालों को फोन कर उसकी रिहाई के बदले 20 लाख रुपए फिरौती मांगा.

टाइम्‍स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार, फिरौती की डिमांड की वजह से पुलिस को कातिलों तक पहुंचने में मदद मिली. रविवार को पुलिस 17 साल के जतिन के किडनैपिंग एंगल से मामले की जांच करती रही कि कहीं इसके पीछे किसी संगठित गिरोह का हाथ तो नहीं. जांच के दौरान पुलिस को मिले सीसीटीवी फुटेज ने कत्ल के मुख्य आरोपी नवीन सिंह के जुर्म का राज खोल दिया. वीडियो फुटेज में नवीन सिंह, जतिन और एक युवक बुलेट बाइक पर बैठकर जाते दिखे. बुलेट पर 'जाट' स्टीकर लिखा हुआ था.

बुलेट बाइक पर लगी स्टीकर ने कत्ल का खोला राज

पुलिस ने इस सुराग के सहारे अपनी जांच को आगे बढ़ाया तो कत्ल की पूरी कहानी सामने आ गई. पुलिस रविवार शाम को नवीन सिंह के घर पहुंच गई. पुलिस ने वहां वो बुलेट बाइक को खड़ा पाया मगर उसपर स्टिकर नहीं था. पुलिस ने नवीन के दोस्तों और आसपास रहने वाले लोगों से बात की तो पता चला कि बुलेट पर पहले 'जाट' का स्टिकर लगा हुआ था.

पुलिस जब नवीन सिंह को हिरासत में लेकर पूछताछ के लिए ले जा रही थी, तब स्टिकर उसकी जेब में था. सबूत मिल जाने पर नवीन ने जतिन की हत्या की बात कबूल कर ली.

पुलिस के मुताबिक नवीन और आकाश ने शुरूआत में उन्हें गुमराह करने की कोशिश करते हुए जतिन को दफनाए जाने की गलत जगह बताई. पुलिस को घटनास्थल पर गिरा आकाश का आधार कार्ड मिला और दफनाए जाने की सही जगह का पता चला.

आरोपी नवीन सिंह और आकाश को पुलिस ने पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया है. दोनों को तिहाड़ जेल भेज दिया गया है. कत्ल के गुनाह में इनका तीसरा साथी नाबालिग है इसलिए उसे सुधार गृह भेज दिया गया है.

साउथ-ईस्ट रेंज के ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर प्रवीर रंजन ने बताया, 'नवीन जिस लड़की से प्यार करता था, वह जतिन की क्लास में पढ़ती थी और उसे ऐसा महसूस हो रहा था कि जतिन उससे करीबी ब़ाने की कोशिश कर रहा है'. यही बात जतिन की हत्या की वजह बनी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Test Ride: Royal Enfield की दमदार Thunderbird 500X

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi