S M L

दिल्ली: सगे भाई ने 2 साल तक रखा कैद, भुखमरी की हालत में मिली महिला

सगे भाई ने ही इस महिला के साथ इतनी बेदर्दी की थी कि वो लगभग भुखमरी की हालत में थी और उसकी हड्डियां तक दिख रही थीं

Updated On: Sep 19, 2018 04:32 PM IST

FP Staff

0
दिल्ली: सगे भाई ने 2 साल तक रखा कैद, भुखमरी की हालत में मिली महिला

दिल्ली महिला आयोग ने राजधानी के रोहिणी इलाके से एक ऐसी 50 साल की महिला को बचाया है, जिसे उसके खुद के भाई ने दो साल से कैद कर रखा था. सगे भाई ने ही इस महिला के साथ इतनी बेदर्दी की थी कि वो लगभग भुखमरी की हालत में थी और उसकी हड्डियां तक दिख रही थीं. जब आयोग को वो महिला मिली तो वो अपनी ही गंदगी में लिपटी पड़ी हुई थी.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, मंगलवार को डीसीडबल्यू ने एक बयान जारी कर बताया कि रोहिणी के एक व्यक्ति ने अपनी ही बहन को दो साल से कैद कर रखा था. महिला के ही दूसरे भाई ने आयोग को इसकी जानकारी दी, जिसके बाद आयोग ने उस व्यक्ति के घर से बचाया.

उस महिला ने आयोग को बताया कि उसका भाई उसे बहुत बुरी हालत में रखता था. उसे हफ्ते में बस चार दिन एक रोटी खाने को मिलती थी. आयोग को ये महिला व्यक्ति के घर खुली छत से मिली. उस व्यक्ति ने महिला को कई दिनों से कुछ भी खाने को नहीं दिया था. महिला की हालत एकदम हड्डी दिखने जैसी हो चुकी है.

डीसीडब्लू की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल ने ट्विटर पर लिखा, '50 साल की महिला को उनके ही भाई ने 2 सालों तक कैद रखा, उन पर अत्याचार किया. जब हमने उन्हें बचाया तो वो अपनी ही गंदगी में लेटी हुई थीं. वो बात नहीं कर पा रही, चल नहीं पा रही न ही किसी को पहचान रही हैं. मैं ऐसे अमानवीय व्यवहार से हैरान हूं. 50 साल की महिला 90 साल की लग रही हैं. वो इतनी कमजोर हो चुकी हैं कि अपनी बेसिक जरूरतें पूरी नहीं कर सकतीं.'

डीसीडब्लू ने बताया कि आरोपी के खिलाफ केस रजिस्टर कर लिया गया है लेकिन अभी तक उसकी गिरफ्तारी नहीं हुई है.

डीसीडब्लू ने बताया कि महिला के दूसरे भाई ने जब उन्हें इस घटना की जानकारी दी तो आयोग की एक टीम तुरंत वहां पहुंची लेकिन शख्स ने उन्हें अपने घर में घुसने नहीं दिया, जिसके बाद आयोग ने पुलिस की मदद ली. पुलिस पड़ोसी के छत से अंदर घुसी और महिला को बचाया गया. महिला को एक स्थानीय अस्पताल में भर्ती करवाया गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi