S M L

भारत में 6.3 करोड़ लोग पीते हैं गंदा पानी: रिपोर्ट

भारत में गंदा पानी पीने वाली आबादी लगभग ब्रिटेन की कुल आबादी के बराबर है

Updated On: Mar 21, 2017 10:05 PM IST

Bhasha

0
भारत में 6.3 करोड़ लोग पीते हैं गंदा पानी: रिपोर्ट

विश्व जल दिवस से एक दिन पहले जारी एक नई वैश्विक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत के ग्रामीण इलाकों में रहने वाले छह करोड़ 30 लाख लोगों को स्वच्छ पानी नहीं मिल पाता है. रिपोर्ट के मुताबिक भारत में यह संख्या सबसे ज्यादा है.

विश्व भर के पानी के बारे में जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि यह आबादी लगभग ब्रिटेन की कुल आबादी के बराबर है.

वाटर ऐड की रिपोर्ट के मुताबिक, सरकारी योजनाओं की खामी, बढ़ती जरूरतों, जनसंख्या वृद्धि और पानी सुखा देने वाली खेती करने के उपायों के कारण असर पड़ रहा है.

रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत के ग्रामीण इलाकों में छह करोड़ 30 लाख लोग स्वच्छ पानी से दूर हैं. इसके कारण हैजा, मलेरिया, डेंगू जैसी आम बीमारियां और कुपोषण के और अधिक पनपने की संभावना है.

जल सुरक्षा करना सरकार के लिए चुनौती

रिपोर्ट में चेतावनी देते हुए कहा गया है कि खेती पर आधारित गांव में रहने वाले लोगों को बढ़ते तापमान के बीच खेती उगाने और पशुओं का चारा जुटाने के लिए संघर्ष करना होगा. साथ ही पानी लाने की जिम्मेदारी का निर्वहन करने वाली महिलाओं को लंबे शुष्क मौसम के दौरान पानी के लिए अधिक दूरी तय करनी पड़ेगी.

भारत को विश्व की सबसे तेजी से बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था में से एक बताते हुए इसमें कहा गया है कि देश के समक्ष मुख्य चुनौतियों में से एक चुनौती बढ़ती हुई आबादी के लिए जल सुरक्षा सुनिश्चित करना है.

भारत के आधिकारिक भूजल संसाधन के आंकड़ों के मुताबिक, देश के भूजल के छठे हिस्से से अधिक का इस समय अत्यधिक प्रयोग किया जा रहा है.

इसमें कहा गया है, ‘उत्तर-मध्य भारत के बुंदेलखंड इलाके में सूखा एक तरह से जीवन का एक अंग बन गया है. यहां लगातार तीन बार पड़े सूखे के कारण लाखों लोग भूख और गरीबी के दुष्चक्र में फंस गए.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi