S M L

पांच गर्लफ्रेंड्स को खुश करने के लिए चोरी करता था 63 साल का बुजुर्ग

पुलिस के मुताबिक बंधु सिंह को चोरी की आदत तब लगी जब 10 साल पहले उनकी एक प्रेमिका ने उन्हें छोड़ दिया

Updated On: Jul 31, 2018 07:17 PM IST

FP Staff

0
पांच गर्लफ्रेंड्स को खुश करने के लिए चोरी करता था 63 साल का बुजुर्ग

कहते हैं कि प्यार की कोई उम्र नहीं होती है. ऐसी ही एक प्रेम कहानी है 63 साल के एक शख्स की, जिसकी एक दो नहीं पांच-पांच गर्लफ्रेंड थी. लेकिन इस कहानी में थोड़ा ट्विस्ट है. अपनी 5 प्रेमिकाओं को खुश करने के लिए 63 साल का ये बुज़ुर्ग चोरी करता था. दिल्ली पुलिस ने जब चोरी के आरोप में इसे गिरफ्तार किया तो कई चौंकाने वाले खुलासे सामने आए.

आरोपी का नाम बंधु सिंह है. पुलिस के मुताबिक बंधु सिंह को चोरी की आदत तब लगी जब 10 साल पहले उनकी एक प्रेमिका ने उन्हें छोड़ दिया. दरअसल आरोपी के पास उतने पैसे नहीं थे कि वो अपनी प्रेमिका को खुश रख सके. लिहाजा इसके बाद बंधु सिंह ने फैसला किया कि अब पैसा उनके प्रेम के आड़े नहीं आएगा.

'द टाइम्स ऑफ इंडिया' के मुताबिक बंधु सिंह पहले छोटी चोरी को अंजाम देता था लेकिन जैसे ही उसका हौसला बढ़ा वो बड़े जगहों पर हाथ साफ करने लगा. उत्तरी दिल्ली में उसने ऐसे घरों को निशाना बनाया जहां सीसीटीवी कैमरे नहीं थे.

गर्लफ्रेंड्स को महंगे गिफ्ट देने के लिए करता था चोरी

जिन महिलाओं को उसने अपने जाल में फंसाया था उन सभी की उम्र 28 से 40 साल के बीच है. गर्लफ्रेंड्स को आरोपी बंधु सिंह की काली करतूतों के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. लेकिन एक दिन वो चोरी करते वक्त सीसीटीवी कैमरा में कैद हो गया. पुलिस ने इसी फुटेज की मदद से उसे गिरफ्तार कर लिया. उत्तरी दिल्ली की डीसीपी नूपुर प्रसाद के मुताबिक आरोपी 28 जुलाई को सराय रोहिल्ला इंडस्ट्रियल एरिया के एक फैक्ट्री में सेंध लगाते समय सीसीटीवी में कैद हो गया. जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया.

पुलिस के मुताबिक इस फैक्ट्री से बंधु सिंह साठ हज़ार नकद और कई अहम चीजें लेकर गायब हो गया था. पूछताछ में उसने बताया कि उसकी 5 प्रेमिकाएं हैं और उनको महंगे गिफ्ट देने के लिए वो चोरियों को अंजाम देता था. फिलहाल पुलिस ने उसके पास से 2 लैपटॉप, 1 एलईडी और 5 हजार रुपये रिकवर हुए हैं.

(साभार-न्यूज़18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi