S M L

गंगाराम अस्पताल के डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही, जिंदा मरीज को घोषित कर दिया मृत

पानीपत से इलाज कराने गंगाराम अस्पताल आए मरीज को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया था लेकिन कुछ ही समय बाद शरीर से पसीना निकलता देखने पर पता चला कि वो जिंदा है

FP Staff Updated On: Jun 23, 2018 09:27 PM IST

0
गंगाराम अस्पताल के डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही, जिंदा मरीज को घोषित कर दिया मृत

राजधानी दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है. अस्पताल के डॉक्टरों ने एक मरीज को मृत घोषित कर दिया था, लेकिन जब परिवार वाले अंतिम संस्कार के लिए ले जाने लगे तो पता चला कि मरीज जीवित है.

हरियाणा के पानीपत से 60 वर्षीय मरीज को इलाज के लिए सर गंगाराम अस्पाल में लाया गया था. जब डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया तब परिजन अंतिम संस्कार के लिए उन्हें एम्बुलेंस से घर लेकर जाने लगे. कुछ देर बाद गर्मी से उनके शरीर से पसीना निकलते परिजनों ने देखा.

परिवार वालों ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कि जब हमने उनके शरीर से पसीना निकलते देखा तो इस बारे में डॉक्टरों को बताया. उन्होंने चेक करने के बाद उनके जीवित होने की पुष्टि कर दी. इस घटना के बाद परिजनों ने 60 वर्षीय मरीज को अस्पताल से डिस्चार्ज करने के लिए कहा. अस्पताल नें मरीज को लामा (चिकित्सा सलाह के खिलाफ छुट्टी) का प्रमाण पत्र दे कर डिसचार्ज कर दिया.

दिल्ली में यह पहला मामला नहीं है जब डॉक्टरों ने किसी जीवित को मृत घोषित कर दिया हो. शालीमार बाग स्थित मैक्स हॉस्पिटल मे भी नवजात जुड़वा बच्चों को मृत घोषित कर दिया था और दोनों बच्चों के शव को प्लास्टिक में लपेट परिवार वालों को सौंप दिया था, बाद में दोनों नवजात जीवित पाए गए. अस्पताल के इस कारनामे पर हंगामा इतना हो गया कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अस्पताल कती लाइसेंस तक रद्द कर दिया था. हालांकि बाद में इसे बहाल कर दिया गया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi