S M L

स्पेशल 26 से प्रेरित हो बने फर्जी सीबीआई ऑफिसर, महिला ने पकड़वाया

ठगों का ये ग्रुप स्पेशल 26 फिल्म से प्रेरित है और फेक सीबीआई ऑफिसर बनकर जौहरियों के घर में इन्कम टैक्स की फर्जी रेड डाला करते थे

Updated On: Sep 10, 2018 07:26 PM IST

FP Staff

0
स्पेशल 26 से प्रेरित हो बने फर्जी सीबीआई ऑफिसर, महिला ने पकड़वाया

पांच लोगों के एक ग्रुप की किस्मत ने आखिर धोखा दे ही दिया. ये पांचों लोग इन्कम टैक्स अधिकारी बनकर लोगों के घरों में छापे मारा करते और वहां से कैश और गहने लेकर चले जाते. इस बार भी वो संताक्रूज के काशिमीरा में यही ठगी कर रहे कि धरा गए. संताक्रूज मामले में वो अपने प्लान के मुताबिक ज्वैलरी नहीं लूट पाए. क्योंकि जिस घर में वो लूट करने गए थे उसकी पत्नी ने गहनों के वैट और जीएसटी बिल दिखा दिए. इस पर वो लोग डर गए और महिला को सिर्फ 1000 रुपए लोकल पुलिस को देने के नाम पर लेकर चलते बने. लेकिन महिला को कुछ शक हो गया और उसने तुरंत पुलिस को खबर कर दी.

पुलिस ने कहा कि ठगों का ये ग्रुप स्पेशल 26 फिल्म से प्रेरित है और फेक सीबीआई ऑफिसर बनकर जौहरियों के घर में इन्कम टैक्स की फर्जी रेड डाला करते थे. उनके लूट के तरीके के बारे में बताते हुए पुलिस ने कहा कि- पहले वो सोसायटी की पार्किंग में खड़ी महंगी, लक्जरी गाड़ी को टारगेट करते. फिर उस गाड़ी के मालिक के बारे में सेक्यूरिटी गार्ड से पता करते. और अपने शिकार और उसके परिवार पर दो दिन तक नजर रखने के बाद फर्जी रेड मारी जाती. वो इस बात को जानते थे कि पीड़ित परिवार चोरीछिपे रखे गए पैसों और गहनों के बारे में पुलिस को रिपोर्ट नहीं करेंगे.

महिला की समझदारी ने लुटने से बचाया:

special

ठीक यही तरीका उन्होंने संताक्रूज में अपनाया और उस बिजनेसमैन के बारे में सोसायटी के गार्ड से पता किया जिसके पास मर्सिडीज थी. 26 जुलाई को रात 9.30 बजे के करीब उन्होंने उस घर में रेड डाली. उन्हें पता था कि महिला घर में अकेली होगी. महिला ने बताया- 'उन्होंने अपना आईडी कार्ड दिखाया और खुद को इन्कम टैक्स ऑफिसर के रुप में बताया. साथ ही उन्होंने सर्च वारंट भी दिखाया. इस वजह से मैंने उन्हें घर में आने दिया. उन्होंने कहा कि घर में अवैध गहने रहने की उन्हें टीप मिली है. मैंने उन्हें बिल और गहने सब दिखाए. लेकिन जांच के लिए वो उसे जब्त करने पर जोर दे रहे थे. तब मैंने विरोध किया और शोर मचाने लगी.'

इसके बाद महिला को लगा कि कुछ तो गड़बड़ है. पांच लोग फैज़ काज़ी (48), मानव सिंह (19), शोएब मुंशी (19), सलीम अंसारी (21) और इमरान अली (25) सभी स्कूल ड्रॉपआउट हैं और महिला के विरोध करने पर उन्होंने उससे सिर्फ 1000 रुपए लिए और चले गए. महिला ने पति के घर आने पर सारी बात बताई और पुलिस को खबर की. पुलिस ने अपने व्हाट्सएप ग्रुप में आरोपियों की जानकारी शेयर की तो काशीमीरा पुलिस स्टेशन से उनके बारे में पता चला. पुलिस ने काजी की तस्वीर को पहचान लिया और फिर सारे आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi