S M L

SDMC के अंतर्गत आने वाले 37 मोटेल में से ज्यादातर मास्टर प्लान की अवहेलना करते हैं

मॉनिटरिंग कमिटी ने नॉर्थ और साउथ कॉर्पोशन के अंतर्गत आने वाले कुछ फार्महाउस और मोटेल का निरीक्षण किया तो उनपर बड़े पैमाने पर नियमों की अवहेलना पाई

Updated On: Sep 28, 2018 07:31 PM IST

FP Staff

0
SDMC के अंतर्गत आने वाले 37 मोटेल में से ज्यादातर मास्टर प्लान की अवहेलना करते हैं

 

पहले फेज में मोटेल और फार्महाउस द्वारा दुरुपयोग और अवैध निर्माण के लिए दक्षिणी दिल्ली नगर निगम यानी एसडीएमसी ने सर्वे खत्म कर लिया है. सर्वे के बाद एक निगम अधिकारी ने बताया कि लगभग हर मोटेल नियमों का उल्लंघन करते पाया गया. मामले की निगरानी करने वाले एक उच्च अधिकारी के अनुसार नजफगढ़ ज़ोन में 16 और साउथ ज़ोन में 20 मोटेल को नोटिस जारी किया गया है. साथ ही मालिकों को जवाब जल्दी दाखिल करने के लिए भी कहा गया है.

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक 20 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट ने तीन लोगों की मॉनिटरिंग कमिटि का गठन किया था और उन्हें साउथ और नॉर्थ निगमों में फार्महाउस और मोटेल का सर्वे करने के लिए कहा गया. साथ ही उन्हें ये भी आदेश दिया गया कि जो भी मोटेल या फार्महाउस नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं उन्हें सील कर दिया जाए.

सामाजिक कार्यों के लिए रजिस्टर हुए फार्महाउसों का सर्वे दूसरे फेज में होगा. निगम को शु्क्रवार तक कमिटी को रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया गया है. लेकिन लोगों की अपेक्षाओं के विपरीत इनके अधिकारक्षेत्र में सिर्फ 37 मोटेल और 41 सोशल फार्महाउस ही आते हैं.

क्या होते हैं सोशल फार्महाउस?

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सोशल फार्महाउस का मतलब वो संपत्ति जो दिल्ली के बाहरी इलाके में 2.5 एकड़ भूमि में बने हों. और सामाजिक कार्यों के लिए उनका उपयोग होता हो. रिहायशी फार्महाउस को 'सोशल फंक्शन' के लिए इस्तेमाल करने पर कंवर्जन चार्ज देना होता है. ज्यादातर रजिस्टर्ड फार्महाउस बिजवासन, रनहोला, छत्तरपुर मेन रोड, द्वारका लिंक रोड, कापसहेड़ा और समालखा में स्थित हैं.

मॉनिटरिंग कमिटी ने नॉर्थ और साउथ कॉर्पोशन के अंतर्गत आने वाले कुछ फार्महाउस और मोटेल का निरीक्षण किया तो उनपर बड़े पैमाने पर नियमों की अवहेलना पाई. एक अनुमान के मुताबिक राजधानी में 3,700 से 4000 तक फार्महाउस हैं. इनमें से 2,800 दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के अंतर्गत आते हैं. निगम का दावा है कि उनमें से अधिकतर रिहायशी हैं और उनमें किसी तरह के कॉमर्शियल काम नहीं होते. नॉर्थ कॉर्पोशन, नॉर्थ और वेस्ट दिल्ली एरिया में 31 मोटेल और 39 फार्महाउस होने का दावा करती है.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi