S M L

भीषण ठंड का कहर: यूपी में कई मौतें, राजस्थान में माइनस में पहुंचा पारा

ठंड का असर यातायात पर भी पड़ा है, उत्तर भारत की ओर जाने वाली 50 ट्रेनें निर्धारित समय से देरी से चल रही हैं, जबकि आठ ट्रेनों के समय में परिवर्तन किया गया है. रेलवे ने 18 अन्य ट्रेनें रद्द कर दी हैं.

Updated On: Jan 09, 2018 10:46 AM IST

FP Staff

0
भीषण ठंड का कहर: यूपी में कई मौतें, राजस्थान में माइनस में पहुंचा पारा

पूरा देश ठंड के प्रकोप से बेहाल है. उत्तर भारत में स्थिति सबसे ज्यादा खराब है. मौसम की मार सिर्फ लोगों पर ही नहीं पड़ रही है बल्कि इसका असर यातायात के साधनों पर भी पड़ा है. उत्तर प्रदेश में ठंड से जहां दो लोगों की मौत हुई है वहीं राजस्थान में एक व्यक्ति की जान गई है.

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर और शामली जिलों में भीषण शीतलहर की वजह से दो लोगों के मरने की खबर है. जिला मुख्यालय द्वारा जारी एक रिपोर्ट में कहा गया कि वाजिदपुर गांव में 42 वर्षीय प्रीतम सिंह सोमवार को ठंड की वजह से अपने घर में गिर गए. उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.

एक अन्य घटना में सोमवार शाम शामली जिले के कांधला कस्बे में खराब मौसम के चलते प्रेम लता (65) की मौत हो गई. ठंड के हालात को देखते हुए मुजफ्फरनगर और शामली में जिला प्रशासन ने स्कूलों को नौ जनवरी तक बंद रखने का आदेश दिया है.

इससे पहले पांच जनवरी को भी दोनों जिलों में ठंड की वजह से पांच लोगों की मौत हो गई थी.

वहीं राजस्थान के सीकर के रानोली थाना क्षेत्र के पलसाना कस्बे में ठंड के कारण एक व्यक्ति के मरने की सूचना मिली है. पुलिस के अनुसार जुराठडा गांव निवासी भागीरथ सिंह का शव पलसाना बस स्टैंड पर मिला था. उन्होंने ठंड के चलते सिंह की मौत की आशंका जताई है. मृतक के शव को पोस्टमॉर्टम के लिये पलसाना अस्पताल भेजा गया है.

कोहरे के कारण 50 ट्रेनें लेट, 18 रद्द

कोहरे के कारण उत्तर भारत की ओर जाने वाली ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ है. अधिकारियों ने बताया कि कोहरे के कारण शहर के कई हिस्सों में दृश्यता प्रभावित हुई. सुबह साढ़े आठ बजे पालम में दृश्यता 400 मीटर जबकि सफदरजंग पर 800 मीटर दर्ज की गई.

रेलवे अधिकारियों के अनुसार, उत्तर भारत की ओर जाने वाली 50 ट्रेनें निर्धारित समय से देरी से चल रही हैं, जबकि आठ ट्रेनों के समय में परिवर्तन किया गया है. रेलवे ने 18 अन्य ट्रेनें रद्द कर दी हैं.

राजधानी का तापमान सामान्य से दो डिग्री कम

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में न्यूनतम तापमान गिर कर पांच डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने के कारण मंगलवार की सुबह सर्द रही.

मौसम विभाग के अधिकारी ने बताया कि मंगलवार का न्यूनतम तापमान पांच डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो मौसम के औसत तापमान से से दो डिग्री सेल्सियस कम है.

मौसम विभाग के अनुसार, पूरे दिन आसमान साफ रहने और अधिकतम तापमान 21 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है.

राजस्थान में पारा पहुंचा माइनस में

राजस्थान के कई स्थानों में न्यूनतम तापमान में सोमवार के मुकाबले गिरावट दर्ज की गई. फतेहपुर शेखावटी स्थित कृषि अनुसंधान केन्द्र पर न्यूनतम तापमान माइनस 1.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

फतेहपुर शेखावाटी स्थित कृषि अनुसंधान केंद्र पर मंगलवार सुबह न्यूनतम तापमान माइनस 1.8 डिग्री दर्ज किया गया. तापमान के जमाव बिन्दु से नीचे चले जाने के कारण फतेहपुर शेखावाटी इलाके के खेतों में फसलों पर बर्फ जम गई. तापमान के गिरने से आम जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित है और सर्दी से बचने के लिए लोगों को अलाव का सहारा लेना पड़ रहा है.

मौसम विभाग के प्रवक्ता के अनुसार माउंट आबू में न्यूनतम तापमान जमाव बिन्दु यानी शून्य डिग्री सेल्सियस, अलवर में 0.4 डिग्री सेल्सियस, सीकर में 0.5 डिग्री सेल्सियस, चूरू में 1.1 डिग्री सेल्सियस, श्रीगंगानगर में 2.7 डिग्री सेल्सियस, पिलानी में 3.7 डिग्री सेल्सियस, चित्तौड़गढ़ में 4.5 डिग्री सेल्सियस, डबोक में 5.5 डिग्री सेल्सियस, ऐरनपुरा रोड में 6.3 डिग्री सेल्सियस, जयपुर में 7.5 डिग्री सेल्सियस, बीकानेर में 7.6 डिग्री सेल्सियस, सवाईमाधोपुर में 7.8 डिग्री सेल्सियस, अजमेर में आठ डिग्री सेल्सियस, कोटा में 8.3, बूंदी में नौ डिग्री सेल्सियस, जोधपुर में 9.2 डिग्री सेल्सियस, जैसलमेर में 9.3 डिग्री सेल्सियस, बाड़मेर में 9.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

लद्दाख में तापमान इस साल के निचले स्तर पर

कश्मीर में धूप खिलने से आज घाटी में लोगों को सर्दी से थोड़ी राहत मिली लेकिन करगिल में ठंड का कहर पहले की तरह ही जारी रहा जहां न्यूनतम तामपान जमाव बिंदु से कई डिग्री नीचे पहुंच गया।

मौसम विज्ञान विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि करगिल में सोमवार को न्यूनतम तापमान माइनस 18.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में अभी तक की सबसे ठंडी रात दर्ज की गई जहां न्यूनतम तापमान माइनस 6.1 डिग्री सेल्सियस रहा.

अधिकारी ने बताया कि लद्दाख के लेह में न्यूनतम तापमान माइनस 16.8 डिग्री सेल्सियस रहा, जो इस मौसम में लेह का अभी तक का न्यूनतम तापमान है.

कश्मीर में 40 दिन का ‘चिल्लई कलां’ चल रहा है जिसमें भीषण सर्दी पड़ती है. इस दौरान बर्फबारी की संभावना बढ़ जाती है और तापमान में भी काफी गिरावट होती है. यह 31 जनवरी को खत्म होता है. इसके बाद 20 दिन का ‘चिल्लई खुर्द’ और उसके बाद 10 दिन को ‘चिल्लई बच्चा’ शुरू होगा.

(इनपुट भाषा से)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi