S M L

मैंने जो देश को दिया, उससे कहीं ज्यादा मुझे मिला: प्रणब मुखर्जी

पूर्व राष्ट्रपति ने देश के सर्वोच्च सम्मान को स्वीकार करते हुए कहा, 'मैं पूरी विनम्रता से इस सम्मान को स्वीकार करता हूं

Updated On: Jan 26, 2019 05:50 PM IST

FP Staff

0
मैंने जो देश को दिया, उससे कहीं ज्यादा मुझे मिला: प्रणब मुखर्जी

शनिवार को पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न को स्वीकार करते हुए देशवासियों के प्रति आभार प्रकट किया. उन्होंने कहा, 'मैं इस देश के लोगों के प्रति अपना गहरा आभार व्यक्त करना चाहता हूं.' मुखर्जी ने कहा, 'मैंने हमेशा कहा है और मैं ये फिर दोहराता हूं, कि मैंने अपने सार्वजनिक जीवन में जितना इस देश और यहां के लोगों को दिया है, उससे कहीं ज्यादा मुझे देश और लोगों ने दिया है.'

पूर्व राष्ट्रपति ने देश के सर्वोच्च सम्मान को स्वीकार करते हुए कहा, 'इसी के साथ मैं पूरी विनम्रता से इस सम्मान (भारत रत्न) को स्वीकार करता हूं.' प्रणब मुखर्जी ने बताया कि उन्होंने मौजूदा राष्ट्रपति से बात करके उन्हें यह सम्मान दिए जाने को लेकर धन्यवाद दिया है.

बता दें कि केंद्र सरकार ने शुक्रवार को गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर तीन लोगों को भारत रत्न देने का ऐलान किया था. इनमें पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, दिवंगत समाजसेवी और संघ कार्यकर्ता नानाजी देशमुख और दिवंगत प्रसिद्ध गायक-संगीतकार भूपेन हजारिका के नामों की घोषणा की गई. भारत रत्न देश का सबसे बड़ा नागरिक सम्मान होता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi