S M L

Parcel reached fox: फांसी से पहले कसाब को मुंबई से पुणे जेल पहुंचाने वाला ऑपरेशन

फांसी के कुछ दिन पूर्व कसाब को मुंबई से पुणे जेल में ट्रांसफर कराने संबंधी ऑपरेशन में शामिल चुनिंदा पुलिसकर्मियों में से एक ने बताया कि इस दौरान वह कोड वर्ड में बात किया करते थे

Updated On: Nov 25, 2018 05:32 PM IST

FP Staff

0
Parcel reached fox: फांसी से पहले कसाब को मुंबई से पुणे जेल पहुंचाने वाला ऑपरेशन

मुंबई पुलिस ने 26/11 मुंबई हमले के मुख्य आरोपी अजमल कसाब की फांसी से जुड़े कई नए खुलासे किए हैं. फांसी के कुछ दिन पूर्व कसाब को मुंबई से पुणे जेल में ट्रांसफर कराने संबंधी ऑपरेशन में शामिल चुनिंदा पुलिसकर्मियों में से एक ने बताया कि इस दौरान वह कोड वर्ड में बात किया करते थे. इन सात कोड के बारे में केवल ऑपरेशन में शामिल पुलिसकर्मी और गृहमंत्री आरआर पाटिल को जानकारी थी. ऑपरेशन को अंजाम देने के बाद जो सबसे अंतिम कोड वर्ड का हमने इस्तेमाल किया था, वह 'पार्सल फॉक्स पहुंच गया' था. इसका अर्थ 'कसाब को जेल पहुंचा दिया गया' है.

उस तीन घंटे की यात्रा में कसाब ने एक शब्द नहीं बोला

काफी हाई सिक्योरिटी के बीच पुलिसकर्मियों की एक टीम कसाब को मुंबई के आर्थर रोड स्थित 'अंडा जेल' से पुणे स्थित यरवडा सेंट्रल जेल लेकर गई थी.

ऑपरेशन में शामिल एक ऑफिसर ने उस दिन को याद करते हुए बताया, '20 नवंबर, 2012 की रात कसाब को बुर्के में ढ़क कर पुलिस वैन में डाला गया. उसे यरवाडा जेल तक पहुंचाना बहुत बड़ी जिम्मेदारी थी. मुंबई जेल से ट्रांसफर के सात दिनों पूर्व ही उसकी फांसी का वारंट जारी किया गया था.'

पुलिस की फोर्स वन कमांडो टीम आधुनिक हथियारों से लैश कसाब को लेकर पुणे जेल पहुंची. उनकी गाड़ी के ठीक पीछे राज्य रिजर्व पुलिस बल की गाड़ी चल रही थी. इस दौरान केवल दो मोबइल हैंडसेट के अलावा बाकी फोन ऑफ कर के बैग में डाल दिए गए थे. उस तीन घंटे के सफर में कसाब ने एक शब्द नहीं बोला. यहां तक कि यरवडा जेल पहुंचने पर भी उसके हाव-भाव में कोई अंत नहीं दर्ज किया गया. बाकी अगली सुबह पूरे देश को पता चल गया था कि कसाब को यरवडा जेल पहुंचा दिया गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi