S M L

मालेगांव ब्लास्टः सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार और NIA से मांगा जवाब

बॉम्बे हाईकोर्ट ने पिछले साल 18 दिसंबर को समीर कुलकर्णी के साथ ही पुरोहित की याचिका भी खारिज कर दी थी

FP Staff Updated On: Jan 29, 2018 03:27 PM IST

0
मालेगांव ब्लास्टः सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार और NIA से मांगा जवाब

मालेगांव विस्फोट मामले में अभियुक्त लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीकांत पुरोहित ने गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम कानून के तहत उस पर मुकदमा चलाने के लिए दी गई मंजूरी को चुनौती दी है. सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने पुरोहित की याचिका पर महाराष्ट्र सरकार और राष्ट्रीय जांच एजेंसी से जवाब मांगा है.

जस्टिस आर. अग्रवाल और जस्टिस ए. एम. सप्रे की पीठ ने पुरोहित की याचिका पर राज्य सरकार और जांच एजेंसी को चार सप्ताह के भीतर जवाब देने को कहा है. पुरोहित ने इस मुकदमे की सुनवाई पर रोक लगाने का भी अनुरोध किया है.

बॉम्बे हाईकोर्ट ने पिछले साल 18 दिसंबर को समीर कुलकर्णी के साथ ही पुरोहित की याचिका भी खारिज कर दी थी. ये दोनों 2008 के मालेगांव बम विस्फोट कांड में अभियुक्त हैं.

जमानत पर हैं कर्नल पुरोहित 

पुरोहित और कुलकर्णी ने हाईकोर्ट से कहा था कि गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम कानून के तहत मुकदमे की अनुमति देने वाले राज्य के विधि एवं न्यायपालिका विभाग को सक्षम प्राधिकार से रिपोर्ट मंगानी चाहिए थी.

पुरोहित ने यह दलील भी दी थी कि उसके मामले में मुकदमा चलाने की मंजूरी जनवरी, 2009 में दी गई थी लेकिन प्राधिकार की नियुक्ति अक्तूबर, 2010 में हुई थी. इस समय पुरोहित और कुलकर्णी दोनों ही जमानत पर हैं.

मालेगांव में 29 सितंबर, 2008 को हुए विस्फोट में छह व्यक्ति मारे गए थे ओर 101 अन्य जख्मी हो गए थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Social Media Star में इस बार Rajkumar Rao और Bhuvan Bam

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi