S M L

दिल्ली एम्स में बिहार का फर्जी डॉक्टर गिरफ्तार, 5 महीने से कर रहा था 'प्रैक्टिस'

आरोपी खुर्रम की पहुंच उस मेडिकल डायरी तक भी थी, जो डॉक्टरों को दी जाती है

FP Staff Updated On: Apr 16, 2018 04:49 PM IST

0
दिल्ली एम्स में बिहार का फर्जी डॉक्टर गिरफ्तार, 5 महीने से कर रहा था 'प्रैक्टिस'

दिल्ली पुलिस ने 19 साल के एक कथित मेडिकल छात्र को गिरफ्तार किया है, जो पिछले पांच महीने से एम्स में फर्जी डॉक्टर बना हुआ था. आरोपी का नाम अदनान खुर्रम है जिसने इस काम के लिए जाली दस्तावेजों का सहारा लिया.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, खुर्रम ने अपनी असली पहचान छुपाकर मेडिकल छात्रों से दोस्ती बनाई और अस्पताल के कर्मचारियों से भी नजदीकी बढ़ाई. एम्स डॉक्टर एसोसिएशन ने हिंदुस्तान टाइम्स को बताया कि खुर्रम ने डॉक्टरों के कई कार्यक्रम यहां तक कि हड़ताल, मैराथन में भी बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया.

शनिवार को दिल्ली पुलिस ने इस फर्जी डॉक्टर को गिरफ्तार किया. इसकी मेडिकल जानकारी और विभागाध्यक्ष और एम्स के डॉक्टरों के नाम सुनकर पुलिस भी दंग रह गई. रिपोर्ट के मुताबिक, आरोपी की पहुंच उस मेडिकल डायरी तक भी थी, जो डॉक्टरों को दी जाती है.

अभी यह स्पष्ट नहीं है कि खुर्रम क्यों एम्स का डॉक्टर बना क्योंकि पुलिस की मानें तो वह बार-बार अपना बयान बदल रहा है. आरोपी ने एक कारण यह बताया कि उसने एक बीमार परिवार को एम्स में जल्द दाखिला दिलाने के लिए ऐसा किया. दूसरा कारण उसने गिनाया है कि उसे मेडिकल का पेशा काफी पसंद है और वह डॉक्टरों की संगत चाहता था.

आरडीए अध्यक्ष हरजीत सिंह ने कहा कि उन्हें तब संदेह हुआ जब उन्होंने खुर्रम को कैंपस में इधर-उधर घूमते और गंदगी फैलाते देखा. हरजीत सिंह ने कहा, वह (आरोपी खुर्रम) हमेशा लैब कोट पहने, गले में स्टेथोस्कोप लटकाए घूमता रहता था. हमने यह भी पाया कि वह अलग-अलग डॉक्टरों से अलग-अलग दावे करता. जूनियर रेजिडेंट डॉक्टरों से वह खुद को रेजिडेंट डॉक्टर बताता और छात्रों से अंडरग्रेजुएट मेडिकल छात्र.

एम्स में लगभग 2 हजार रेजिडेंट डॉक्टर हैं जिन्हें पहचानना मुश्किल काम है. खुर्रम इसी का नाजायज फायदा उठाता था. उसे शनिवार को एक मैराथन के दौरान गिरफ्तार किया गया जब सीनियर डॉक्टरों ने उसकी पहचान जाननी चाही. इसमें वह नाकाम रहा, नतीजतन डॉक्टरों ने उसे पुलिस को सौंप दिया.

पुलिस के मुताबिक खुर्रम बिहार का मूल निवासी है जिसके खिलाफ अबतक कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं हैं. वह दिल्ली में जामिया नगर के बाटला हाउस इलाके में रहता है. गिरफ्तारी के बाद खुर्रम के खिलाफ धारा 468 (फर्जीवाड़ा) और 419 (बहरूपिए का अपराध) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi