S M L

Year Ender 2018 : ‘खान्स’ के मन में फ्लॉप की ‘खलबली’ मचा गया 2018

जहां 2018 बॉलीवुड के बिजनेस के लिए एक अच्छा साल साबित हुआ वहीं खान्स के करियर पर इसने फ्लॉप का तमाचा जड़ दिया

Updated On: Dec 25, 2018 11:12 PM IST

Hemant R Sharma Hemant R Sharma
कंसल्टेंट एंटरटेनमेंट एडिटर, फ़र्स्टपोस्ट हिंदी

0
Year Ender 2018 : ‘खान्स’ के मन में फ्लॉप की ‘खलबली’ मचा गया 2018

साल 2018 के खत्म होने में बस अब चंद दिन ही बचे हैं और शाहरुख खान की फिल्म जीरो, फ्लॉप के ठप्पे का इंतजार करते हुए बॉक्स ऑफिस पर बस आखिरी सांसें गिन रही है. 200 करोड़ रुपए के बजट से बनी ये फिल्म 100 करोड़ क्लब में शामिल होने के लिए जितना वक्त लगा रही है, उतने ही वक्त में शाहरुख अब ये समझने की कोशिश जरूर कर रहे होंगे कि उनसे इस फिल्म की मेकिंग के दौरान कहां गलती हुई है?

शाहरुख की बात हम फिर से करेंगे लेकिन यहां उन खान्स की बात करना पहले जरूरी है जो अब तक खुद को बॉक्स ऑफिस का तीस मार खान समझते रहे हैं. इस बात को मैं थोड़ा जोर देकर इसलिए कह रहा हूं क्योंकि डिस्ट्रीब्यूटर्स को ये  400 से 500 करोड़ रुपए की कमाई का फिगर देकर फिल्में बेच देते हैं लेकिन जब ये फिल्में कमाई नहीं करती हैं तो इन्हें उनका पैसा वापस भी करना पड़ता है. इससे पहले के वर्षों में भी खान्स के साथ इस तरह का ट्रेंड देखने को मिला था लेकिन 2018 पहला ऐसा साल बना है जिसमें तीनों खान्स की फिल्मों ने बॉक्स ऑफिस पर उम्मीद से कम कमाई करके इन तीनों को ही इन्सिक्यूरिटी दे दी है.

2018 सबसे पहले बुरी खबर लेकर आया सलमान खान के लिए. हर बार की तरह इस साल भी ईद के मौके पर सलमान खान अपनी फिल्म रेस 3 लेकर बॉक्स ऑफिस पर अवतरित हुए. एक तो ईद की छुट्टी उस पर सलमान खान समेत जैकलीन फर्नांडीस, अनिल कपूर, बॉबी देओल, डेजी शाह जैसे सितारों का फुल प्रमोशन. 15  जून को जैसे ही ये फिल्म रिलीज हुई सलमान के फैंस ने थिएटर्स भर दिए लेकिन जल्दी ही उन्हें पता चल गया कि रेस 3 उनकी उम्मीदों पर खरी नहीं उतरी.

salman khan race 3

रेस 3 में स्टारकास्ट बुरी तरह बेवजह से घुसाई गई थी, सलमान ने अपने दोस्तों को काम दिलाने के लिए प्रड्यूसर रमेश तोरानी के पैसे को पानी की तरह बहाया. सलमान के प्रेशर में डायरेक्टर रेमो डिसूजा ने फिल्म का कचरा कर दिया. जिसका रिजल्ट दो तीन दिन में ही बॉक्स ऑफिस पर नजर आने लगा. 300-400 करोड़ रुपए कमाने का सपना देख रहे सलमान की ये फिल्म भारत में 169 करोड़ कमाकर ढेर हो गई.

सलमान को इस फिल्म से सबक मिल गया कि वो अधकचरा मनोरंजन लेकर फिल्म को जबरदस्ती हिट नहीं बना सकते. फैंस अभी सलमान की रेस में दौड़कर सुस्ता ही रहे थे कि दिवाली पर आमिर खान अपनी फिल्म ठग्स ऑफ हिंदोस्तान का ट्रेलर लेकर चले आए. इस फिल्म को 335 करोड़ रुपए के बड़े बजट में बनाया गया था. आमिर खान के साथ इस फिल्म में अमिताभ बच्चन के अलावा कैटरीना कैफ और फातिमा सना शेख भी अपने हुस्न का जलवा बिखेरने के लिए तैयार थीं.

आमिर खान ने अब तक जिस तरह का मनोरंजन पिछले एक दशक में लोगों को दिया है उससे उम्मीद लगाई जा रही थी कि इस फिल्म में आमिर कुछ बड़ा धमाका कर सकते हैं. इस फिल्म का डायरेक्टर विजय कृष्ण आचार्य के साथ आमिर खान धूम 3 में भी काम कर चुके थे, इसलिए उम्मीद और भी बढ़ गई थी. साथ में अमिताभ बच्चन का फिल्म में होना इसे बॉक्स ऑफिस का मजबूत दावेदार बना रहा था. जैसे ही फिल्म का ट्रेलर आया दबे शब्दों में लोगों ने कहना शुरू कर दिया कि ठग्स ऑफ हिंदोस्तान का बॉक्स ऑफिस पर चलना मुश्किल है क्योंकि फिल्म में ग्राफिक्स का बहुत काम था और ये सभी ग्राफिक्स काफी नकली लग रहे थे.

Thugs Of Hindostan

कैटरीना ने इस फिल्म के लिए एक बड़ा ही गजब का गाना सुरैया भी रिकॉर्ड किया. लेकिन जैसे ही दिवाली से एक दिन पहले ये फिल्म रिलीज हुई क्रिटिक्स ने इस फिल्म को काफी नेगेटिव रिव्यूज दिए.

आमिर की पीआर मशीनरी ने कुछ वक्त तक इन निगेटिव रिव्यूज को मैनेज करने की कोशिश तो की लेकिन जनता ने थिएटर्स से बाहर आकर चिल्लाना शुरू कर दिया कि ठग्स ऑफ हिंदोस्तान ने उन्हें बॉक्स ऑफिस पर ठग लिया है. बस फिर क्या था, शहर में खबर आग की तरह फैल गई और इस आग में झुलसकर ठग्स हिम्मत हार गए. आमिर खान की ये फिल्म भारत में बस 145 करोड़ रुपए कमाकर ढेर हो गई. आमिर खान ने बाद में इसके फेलियोर की जिम्मेदारी ली, जिससे फैंस को ये सुकून जरूर मिला कि आमिर को समझ में आ गया है कि उनसे इस बार कॉन्टेंट बनाने में गलती हो गई.

बस फिर क्या था मीम्स बनाने वालों ने तो ठग्स के बाद से ही मीम्स बनाने शुरू कर दिए थे कि सलमान को देखा, आमिर को देखा तो फिर शाहरुख कहां पीछे रहने वाले हैं. वो भी अपनी फिल्म जीरो लेकर आने को तैयार बैठे थे. सलमान और आमिर से उलट शाहरुख अपने इस प्रोडक्ट के लिए काफी गंभीर और आश्वस्त नजर आ रहे थे और लोगों को कहते फिर रहे थे कि हम जिसके पीछे लग जाते हैं लाइफ बना देते हैं.

shah rukh in zero

इस बार शाहरुख डायरेक्टर आनंद एल राय के पीछे लगे थे, शाहरुख की पिछली फिल्म इम्तियाज अली के साथ जब हैरी मेट सेजल फ्लॉप रही थी ऐसे में माना जा रहा था कि शाहरुख ना सही लेकिन आनंद एल राय दर्शकों को निराश नहीं करेंगे.

शाहरुख ने अपने जन्मदिन 2 नवंबर से ही इस फिल्म का प्रमोशन करना शुरू कर दिया था. वैसे तो रेस 3 के वक्त शाहरुख ने सलमान के साथ मिलकर ईद पर लोगों को मुबारकबाद देने के लिए एक स्पेशल गाना लॉन्च कर दिया था जिसमें दिख गया था कि फिल्म जीरो में शाहरुख एक बौने का किरदार निभाने वाले हैं. तो 21 दिसंबर का वो दिन आ ही गया जब ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर रिलीज हो गई. जिस तरह के बॉक्स ऑफिस कलेक्शन की उम्मीद इस फिल्म से की जा रही थी वैसा प्रदर्शन इस फिल्म ने नहीं किया.

फिलहाल 4 दिन में फिल्म 60 करोड़ रुपए के आसपास कमा चुकी है और इस फिल्म का बनाने में शाहरुख ने 200 करोड़ रुपए खर्च किए हैं. ऐसे में इसका बॉक्स ऑफिस कलेक्शन इस फिगर तक पहुचंना मुश्किल लग रहा है. साफ है कि 2018 खान्स के लिए उतना अच्छा नहीं रहा जितना अच्छा ये लोग इसे मानकर चल रहे थे.

बॉलीवुड इन खान्स के इर्दगिर्द घूमता नजर आता है और देखा गया है कि अपनी कुल कमाई का आधा कलेक्शन बॉक्स ऑफिस खान्स की फिल्मों से करता रहा है. लेकिन 2018 का ट्रेड बदला है. इस बार संजू 341 करोड़, पद्मावत 300, 2.0 188 करोड़ और बागी, बधाई हो, स्त्री, राजी और सोनू के टीटू की स्वीटी समेत कुछ फिल्में 1500 करोड़ रुपए का धमाकेदार बिजनेस बॉलीवुड को दे चुकी हैं. जबकि खान्स की फिल्म का कुल कलेक्शन 500 करोड़ पहुंचना भी मुश्किल हो गया है.

2018 खान्स को ये सबक जरूर दे गया है कि कॉन्टेंट और व्यूअर्स की आदत दोनों बॉलीवुड में तेजी से बदले हैं ऐसे में अगर इन्होंने खुद को नहीं बदला तो आने वाले साल भी कुछ ऐसा ही आइना इन्हें दिखा सकते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi