S M L

हम स्कूली बच्चे नहीं जो दिन की शुरुआत राष्ट्र गान से करें: विद्या बालन

सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन की मेंबर होने के नाते विद्या बालन का मानना है कि बदलाव लाने का ये सही मौका है

Updated On: Oct 28, 2017 01:40 PM IST

Akash Jaiswal

0
हम स्कूली बच्चे नहीं जो दिन की शुरुआत राष्ट्र गान से करें: विद्या बालन

सीबीएफसी की कमिटी मेंबर विद्या बालन ने कहा है कि थिएटर्स में फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्र गान नहीं बजाया जाना चाहिए. उनका मानना है कि इस तरह से आप देशभक्ति की भावना जबरदस्ती किसी पर नहीं थोप सकते हैं. हम कोई स्कूल जाते बच्चे नहीं हैं कि दिन की शुरुआत राष्ट्र गान के साथ करेंगे.

विद्या ने कहा कि सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन की मेंबर होने के नाते अब ये बदलाव लाने का सही मौका है. उन्होंने कहा, “पिछले सेंसर बोर्ड की इंडस्ट्री में एक अलग ही छवि थी और इसलिए जब मुझे पूछा गया कि क्या आप इस समीति का हिस्सा बनना चाहेंगी? तो मुझे लगा कि बदलाव लाने के यही सही वक्त है. इसलिए जब तक मैं उस परिवर्तन का हिस्सा नहीं बन जाती या कोशिश नहीं करती तब तक मैं उसकी आलोचना भी नहीं कर सकती.”

Controversy: राष्ट्र गान बजाने के लिए सिनेमा हॉल उचित जगह नहीं है: सोनू निगम

विद्या ने कहा कि वो नहीं चाहती कि कोई भी सेंसर बोर्ड संस्कारी या गैर-संस्कारी का ऐसा कोई भी टैग दे. साथ ही उन्होंने बताया कि इस मुद्दे पर उनकी कमिटी के मेंबर्स भी सोच विचार कर रहे हैं.

बता दें कि पहलाज निहालनी को बर्खास्त किए जाने के बाद प्रसून जोशी को सीबीएफसी का नया चेयरमैन नियुक्त किया गया. साथ ही इसकी कमिटी में विद्या को भी सदस्यता दी गई.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi