In association with
S M L

यूपी को बॉलीवुड का फेवरेट बनाने की योगी कर रहे हैं कोशिशें

पूर्ववर्ती टीम को हटाते हुए योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश में फिल्मों के प्रचार-प्रसार के लिए कमर कर ली है

Bhasha Updated On: Dec 10, 2017 10:34 PM IST

0
यूपी को बॉलीवुड का फेवरेट बनाने की योगी कर रहे हैं कोशिशें

छोटे शहरों की कहानियों पर आधारित फिल्में दर्शकों को बेहद पसंद आ रही हैं और दिलचस्प बात यह है कि उत्तर प्रदेश ऐसी फिल्मों के लिए निर्माता निर्देशकों की पहली पसंद बनता जा रहा है.

'टायलेट एक प्रेम कथा', 'शादी में जरूर आना', 'बरेली की बर्फी', 'जॉली एलएलबी 2' और जल्द आने वाली फिल्में 'मुल्क', 'रेड' और 'बब्बू बैचलर' की शूटिंग के लिए बॉलीवुड के नामी निर्माता निर्देशक पूरे दल-बल के साथ उत्तर प्रदेश आए थे.

दक्षिण भारत के निर्माता-निर्देशक भी प्रदेश में बनारस के घाटों की सुदंरता कैमरे में कैद करने के लिए यहां आ रहे हैं.

राजधानी लखनऊ में हाल ही में फिल्म ‘मुल्क’ की शूटिंग पूरी हुई है. इसके लिए शाहरूख खान अभिनीत फिल्म 'रा वन' तथा संजय दत्त की फिल्म 'दस' के निर्देशक अनुभव सिन्हा पिछले महीने करीब 25 दिन लखनऊ में रहे. उनके साथ ‘मुल्क’ के कलाकार ऋषि कपूर, आशुतोष राणा, प्रतीक बब्बर, रजत कपूर और अभिनेत्री तापसी पन्नू भी यहां रहे. अजय देवगन और इलियाना डिक्रूज की फिल्म 'रेड' की शूटिंग अभी भी शहर में चल रही है . Akshay Toilet

छोटे शहरों की कहानियों के लिए हैं शानदार लोकेशन

प्रदेश में छोटे शहरों की कहानियों के लिए शानदार लोकेशनें हैं. लखनऊ में थियेटर अभिनेता उपलब्ध रहते हैं. इसके अलावा प्रदेश में शूटिंग कम खर्च में हो जाती है.

फिल्म ‘बंधु’ के निदेशक और प्रदेश के प्रमुख सचिव (सूचना) अवनीश अवस्थी ने बताया कि 'प्रदेश में शूटिंग के लिए फिल्म निर्माता निर्देशकों को सहायता और सहूलियतें को पहले से बेहतर कर दिया गया है. निर्माता निर्देशकों अब सुविधाएं और भी अधिक मिलेंगी.’

उन्होंने कहा कि यूपी सरकार अब फिल्मों को जीएसटी के साथ टैक्स फ्री करेगी. इसके अलावा फरवरी में उत्तर प्रदेश में होने वाले निवेशकों के शिखर सम्मेलन (इन्वेस्टर्स मीट) में सरकार प्रदेश में फिल्मों में शूटिंग करने वाले निर्माता निर्देशकों के लिए और अधिक राहत और आकर्षक योजनाएं पेश करेगी.

इसी के तहत इस बार गोवा में हुए इस साल के सबसे बड़े फिल्म फेस्टिवल IFFI 2017 में उत्तर प्रदेश फिल्म बंधु ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते हुए फिल्म निर्माता-निर्देशकों को उत्तर प्रदेश में आकर फिल्मों की शूटिंग करने के लिए प्रोत्साहित किया.

निर्देशक अनुभव सिन्हा ने फोन पर ‘भाषा’ को बताया 'करीब चार साल पहले उत्तर प्रदेश में बनाई गई फिल्म नीति में निर्माता निर्देशकों को पूरी सुविधाएं देने की बात कही गई थी. आजकल छोटे शहरों की कहानियां ज्यादा हिट हो रही हैं. फिर यहां ऐसी फिल्मों की शूटिंग के लिए बहुत अच्छी लोकेशन मिल जाती है . अन्य सुविधाएं और कम खर्च आदि की वजह से भी बॉलीवुड के फिल्म निर्माता निर्देशक आ रहे हैं .'

उन्होंने बताया कि हाल ही में उन्होंने 'मुल्क' की शूटिंग लखनऊ और मलीहाबाद में पूरी की है . ‘अगले साल मार्च अप्रैल में हम अपनी एक और फिल्म की शूटिंग लखनऊ और आसपास के क्षेत्रों में करेंगे. मेरी पत्नी रत्ना सिन्हा की फिल्म 'शादी में जरूर आना' की पूरी शूटिंग लखनऊ और उसके आसपास इसी साल हुई. यह फिल्म हाल ही में रिलीज हुई है.’

'मुल्क' की शूटिंग के बाद अभिनेत्री तापसी पन्नू ने लखनऊ में शूटिंग के दौरान उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा फिल्म यूनिट को पर्याप्त सुरक्षा देने के लिए ट्वीट कर शुक्रिया भी कहा था .

दक्षिण फिल्म इंडस्ट्री के फिल्मकार भी उत्तर प्रदेश की ओर आकर्षित हो रहे हैं . मलयालम फिल्म के सुपर स्टार मोहन लाल अपनी फिल्म के लिये और एक तेलुगु फिल्म के लिए आशुतोष राणा और पूजा हेगड़े इसी साल वाराणसी आए थे. पिछले दिनों फिल्म निर्माता निर्देशक बोनी कपूर और मधुर भंडारकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने आए थे .

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गणतंंत्र दिवस पर बेटियां दिखाएंगी कमाल!

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi