S M L

तनुश्री-नाना विवाद: तनुश्री दत्ता को भेजे गए दो लीगल नोटिस, कहा-आवाज उठाने की मिली है सजा

तनुश्री दत्ता ने भारत के लीगल सिस्टम पर सवाल उठाए हैं

Updated On: Oct 04, 2018 09:36 AM IST

Arbind Verma

0
तनुश्री-नाना विवाद: तनुश्री दत्ता को भेजे गए दो लीगल नोटिस, कहा-आवाज उठाने की मिली है सजा

नाना पाटेकर पर यौन शोषण के आरोप लगाए जाने के बाद अब तनुश्री दत्ता को एक के बाद एक दो नोटिस आए हैं. ये नोटिस तनुश्री दत्ता को नाना पाटेकर और विवेक अग्निहोत्री ने भेजा है. इस बात की पुष्टि खुद तनुश्री दत्ता ने किया है. तनुश्री ने कहा है कि वो इस तरह के शोषण के खिलाफ आवाज उठाने की सजा झेल रही हैं.

तनुश्री दत्ता को मिले दो नोटिस

कई दिनों से चले आ रहे तनुश्री दत्ता और नाना पाटेकर के विवाद में अब एक नया मोड़ आ गया है. नाना पाटेकर और विवेक अग्निहोत्री ने तनुश्री दत्ता को नोटिस भेजा है. तनुश्री दत्ता ने अपने बयान में कहा है कि, ‘मुझे अब तक दो नोटिस मिले हैं. एक नाना पाटेकर की तरफ से और दूसरा विवेक अग्निहोत्री की तरफ से. भारत में अन्याय, शोषण के खिलाफ आवाज उठाने के लिए आपको ये सब कुछ झेलना पड़ता है. नाना और विवेक पूरी तरह से सोशल मीडिया और दूसरे पब्लिक प्लेटफॉर्म्स पर मेरे खिलाफ झूठा कैंपेन चला रही हैं. आज जब मैं घर में थी तो दो संदिग्धों ने मेरे घर में घुसने की कोशिश की लेकिन उन्हें बिल्डिंग के सिक्योरिटी गार्ड्स ने रोक दिया. इसके अलावा मुझे मनसे पार्टी की तरफ से लगातार धमकियां मिल रही हैं.’

तनुश्री ने उठाया लीगल सिस्टम पर सवाल

तनुश्री दत्ता ने भारत के लीगल सिस्टम पर सवाल उठाए हैं. तनुश्री ने कहा कि, ‘मुझे कोर्ट में घसीटने की धमकी दी जा रही है. हम सब को पता है कि भारत का लीगल सिस्टम मामले के विचाराधीन होने तक महिला और उसके सपोर्टर्स को चुप रहने के लिए कहता है. इसके अलावा उसका आर्थिक तौर पर शोषण किया जाता है. तारीख पे तारीख मिलती है और पूरी जिंदगी न्याय के इंतजार में बीत जाती है. आरोपी के जरिए पेश किए गए झूठे गवाह महिलाओं का केस कमजोर कर देते हैं. कई दशकों तक कोर्ट में केस चलते हैं और आखिर में एक जिंदगी बर्बाद और हार जाती है. 10 साल पहले मैं इसी माहौल से दूर होने के लिए अमेरिका चली गई थी. अमेरिका में मेरे सभी घाव भरे. मुझे वहां पर शांति और एक नई जिंदगी मिली थी. मुझे लगता है कि अगर मैंने खुद को कोर्ट केस में फंसा दिया तो मैं इस नई जिंदगी को भी जल्द ही खो दूंगी. आप सब जानना चाहते हैं कि भारत में #MeToo मूवमेंट क्यों नहीं शुरू होता. इसकी वजह यही है.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi