S M L

तीन तलाक देश की बहादुर मुस्लिम महिलाओं की जीत - शबाना आजमी

शबाना आजमी ने ट्रिपल तलाक पर हुए फैसले का स्वागत किया है

Updated On: Aug 23, 2017 12:46 AM IST

Hemant R Sharma Hemant R Sharma
कंसल्टेंट एंटरटेनमेंट एडिटर, फ़र्स्टपोस्ट हिंदी

0
तीन तलाक देश की बहादुर मुस्लिम महिलाओं की जीत - शबाना आजमी

शबाना आजमी ने सर्वोच्च न्यायालय द्वारा एक ही बार में तीन तलाक पर रोक के फैसले का स्वागत किया है और कहा है कि यह फैसला देश की बहादुर मुस्लिम महिलाओं की जीत है. शबाना ने मंगलवार को ट्वीट किया, "मैं सर्वोच्च न्यायालय द्वारा तीन तलाक पर दिए गए फैसले का स्वागत करती हूं. यह उन बहादुर मुस्लिम महिलाओं की जीत है, जिन्होंने कई सालों तक इसके खिलाफ लड़ा है."

सर्वोच्च न्यायालय ने तीन तलाक पर 3:2 के बहुमत से फैसला सुनाया. फैसले में कहा गया कि मुस्लिम समुदाय की तीन तलाक की परंपरा 'असंवैधानिक', 'एकतरफा' और 'इस्लाम का हिस्सा' नहीं है.

शबाना एक समाजिक कार्यकर्ता भी हैं और वह बाल विकास, एड्स और न्याय दिलाने के क्षेत्र में सक्रिय हैं. उन्होंने अपने कई नाटकों में सांप्रदायिकता के खिलाफ भी आवाज उठाई है.

इसके साथ ही उन्होंने झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वाले, प्रवासी कश्मीरी पंडितों और लातूर में आए भूकंप पीड़ितों के लिए काम किया है. साल 1993 में हुए मुंबई दंगों ने उन्हें हिला कर रख दिया था और वह धार्मिक चरमपंथ की एक मजबूत आलोचक के रूप में उभरीं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi