Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

बेबाक ओम पुरी: बयान जिन्होंने उन्हें विवादों में डाला

ओम पुरी जितना अपने अभिनय से चर्चा में रहे उतना ही वे खुद से जुड़े विवादों और बयानों के कारण भी लाइमलाइट में रहे

Swati Arjun Swati Arjun Updated On: Jan 06, 2017 12:24 PM IST

0
बेबाक ओम पुरी: बयान जिन्होंने उन्हें विवादों में डाला

फिल्म अभिनेता ओम पुरी का शुक्रवार सुबह उनके घर में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. उनकी मौत इतनी अचानक हुई कि उनके परिवार, फैंस और फिल्म जगत के साथियों को एकबारगी विश्वास नहीं हुआ.

66 साल के ओम पुरी ता-उम्र जितना अपने अभिनय से चर्चा में रहे उतना ही वे खुद से जुड़े विवादों और बयानों के कारण भी लाइमलाइट में रहे. एक नजर उनसे जुड़े 7 बड़े विवादों पर...

पिछले साल ही अक्टुबर 2016 में पाकिस्तान पर किए गए सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान के हमले में भारतीय सैनिकों के मारे जाने के मुद्दे पर ओम पुरी ने टेलीविजन चैनल पर एक बहस के दौरान कहा था, ‘क्या हम उन्हें सेना में शामिल होने के लिए मजबूर करते हैं? मेरे पिता भी सेना में थे.. हमें उन पर (जवानों) गर्व है. मैं आपसे पूछना चाहता हूं कि क्या आप भारत और पाकिस्तान को इजरायल और फिलीस्तीन बनाना चाहते हैं.’

उन्होंने आगे कहा, "मुझे सलमान खान या अन्य खान की परवाह नहीं है. मोदी जी  पाकिस्तानी अभिनेताओं के वीजा रद्द कर दें. 15-20 आत्मघाती हमलावरों को तैयार करें और उन्हें पाकिस्तान भेज दें.’

इसी तरह जून  2016 में एक फिल्‍म के प्रमोशन के दौरान जब उनसे प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को लेकर सवाल किया गया तो उन्‍होने कहा, देश के पास मोदी के अलावा कोई विकल्‍प नही है और देशवासियों के पास मोदी की गोद में बैठने के अलावा कोई और चारा नहीं है. इसी दौरान उन्होंने ये भी कहा, ‘सोनिया गांधी ने मनमोहन सिंह को दस सालों तक कठपुतली बनाकर रखा. सोनिया गांधी ने अपने बेटे राहुल गांधी को देश का प्रधानमंत्री बनाने के लिए कांग्रेस पार्टी के बेहद प्रतिभाशाली नेता प्रणव मुखर्जी को देश का राष्‍ट्रपति बना दिया.'

om puri face book

दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान ओम पुरी

साल 2011 में दिल्ली के रामलीला मैदान में समाजसेवी अन्ना हजारे के आंदोलन के दौरान ओम पुरी एक बार फिर तब चर्चा में आए जब उन्होंने मंच पर भारतीय नेताओं के खिलाफ अपशब्द बोले थे, उन्होंने कहा था-

‘ये अनपढ़ हैं...आधे से ज्यादा एमपी गंवार हैं. ये लोग करते क्या हैं ये पांच साल तक ऐश करते हैं फिर लूटते हैं देश को. मैं जानता हूं इनको कि इनके घरों में क्या है.’

इसी मंच से उन्होंने कई पत्रकारों पर भी निशाना साधा. इनमें एनडीटीवी की बरखा दत्त भी थीं. बरखा पर आरोप लगाते हुए ओम पुरी ने राडिया टेप मुद्दे में उनके नाम आने पर उनपर नजी हमले किए. उन्होंने आरोप लगाया कि बरखा दत्त कैनेडा में एक कैफे की मालिकन हैं और उन्होंने एक जापानी व्यक्ति से शादी कर ली है. इस दौरान उनपर रामलीला मैदान में अन्ना के कार्यक्रम में शराब पीकर भाषण देने का भी आरोप लगा.

पिछले साल ही जब हिंदी फिल्म अभिनेता आमिर खान ने अहिष्णुता के मुद्दे पर बयान दिया था कि उनका परिवार भारत में असुरक्षित महसूस करता है...तो उस पर पुरी ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि, आमिर का बयान बर्दाश्त करने लायक नहीं है. उन्होंने कहा कि, ‘आमिर अपने समुदाय के लोगों को भड़काने की कोशिश कर रहे हैं कि या तो वे लड़ने के लिए तैयार हो जाएं या मुल्क छोड़ के चले जाएं.’

देश में गाय की हत्या पर रोक लगाने के मांग पर भी ओम पुरी ने विवादित बयान दिया था.उन्होंने कहा था-

‘जो लोग देश में गाय की हत्या पर रोक लगाना चाहते हैं वे लोग ढोंगी है. हम गाय के मांस का निर्यात करते हैं और इससे डॉलर्स कमाते हैं.’

कुछ समय पहले ओम पुरी उस समय भी चर्चा में आए थे जब उन्होंने नक्सलियों को लेकर एक बयान दिया था. ओम के मुताबिक, ‘नक्सल कोई आतंकवादी नहीं है बल्कि वे योद्धा हैं. वे बेवजह के आंतक में शामिल नहीं होते, वे सड़कों पर बम नहीं बिछाते. नक्सल हमारे देश के वे लड़ाके हैं जो अपने अधिकारों के लिए लड़ रहे हैं. वे आम लोगों और गरीबों को परेशान नहीं करते.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi