S M L

Interview: सारा अली खान के डेब्यू को लेकर एक्साइटेड हूं: सैफ अली खान

फर्स्टपोस्ट हिंदी से खास बातचीत में सैफ अली खान ने अपने फिल्मी करियर को लेकर कई बातें बताई

Updated On: Jan 17, 2018 05:13 PM IST

Bharti Dubey

0
Interview: सारा अली खान के डेब्यू को लेकर एक्साइटेड हूं: सैफ अली खान

हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में सैफ अली खान की अपनी ही एक अलग पहचान है. लखनऊ के नवाब घराने में जन्मे सैफ बॉलीवुड में अपनी एक्टिंग से सभी के दिलों में आज भी अपनी छाप छोड़ते नजर आ रहे हैं. 90 के दशक में बॉलीवुड में बॉलीवुड में कदम रखने वाले सैफ आज फिल्म इंडस्ट्री की नामचीन हस्तियों में से एक हैं. सैफ ने अपने फिल्मी करियर में विभिन्न फिल्मों में काम किया और अब भी अपने करियर को लेकर नए-नए एक्सपेरिमेंट्स करते रहते हैं.

फिल्मों के बाद सैफ अब वेब सीरीज का रूख कर रहे हैं. अपनी इसी नई पहल, अपने बीते फिल्मों की प्रदर्शन और ऐसी ही कई जरूरी विषयों पर सैफ ने फर्स्टपोस्ट हिंदी से बातचीत की.

‘कालाकांडी’ के विषय पर सैफ ने कहा

आज रोचक फिल्मों का भविष्य है. मेनस्ट्रीम ब्लॉकबस्टर फिल्मों के मुकाबले ये थोड़ा सरल है. अच्छे एक्टर्स के साथ काम करना मजेदार है क्योंकि इनके साथ काम करने से मेरे अभिनय में भी सुधार हुआ है. ये वाकई एक बेहतर अनुभव था.

‘कालाकांडी’ के डायरेक्टर को लेकर सैफ की राय

अगर मैं अपने डायरेक्टर पर विश्वास रखता हूं, तो मैं वो करता हूं जो वो चाहते हैं. क्योंकि इसके साथ वो एक दुनिया बना रहे होते हैं. एक रिस्पांसिव डायरेक्टर बेहद जरूरी है. लोग मुझे पूछते हैं कि क्या इस बात से फर्क पड़ता है कि आपका डायरेक्टर आलसी है? मेरी राय में हां, फर्क पड़ता है क्योंकि डायरेक्टर ही मेरी पहली ऑडियंस है. जब मैं एक्टिंग कर रहा होता हूं तब मैं ऑडियंस के बारे में नहीं सोच रहा होता हूं. मैं एक बड़े स्टेज पर परफॉर्म नहीं कर रहा हूं बल्कि मैं इसे सिर्फ एक शख्स के लिए कर रहा हूं. अगर मैं उनमें विश्वास रखता हूं तो मैं कम्फर्टेबल हूं.

फिल्मों में गालियों को लेकर बोले सैफ

मैंने फिल्म ‘सेक्रेड गेम्स’ में गाली दी है फिर ‘ओमकारा’ में भी ऐसा ही है. मुझे याद है कि जब हम ‘एलओसी’ पर काम कर रहे थे तब फिल्म में मेरे सीनियर कैपटन का किरदार निभाने वाले संजय कपूर पाकिस्तानियों को बहुत गालियां दे रहे थे जिसे बाद में कांटना पड़ा. इसलिए आज भी इस बात का बड़ा ख्याल रखना पड़ता है, अगर बाद में आपको अपनी फिल्मों में बीप नहीं जोड़ना है तो.

आशंकाओं को लेकर सैफ ने कहा

आशंकाएं तो थी क्योंकी एक समय आया जब हमें कहा गया कि वो फिल्म में 60 कट्स ऐड करने वाले हैं. उस समय ऐसा लगा कि इससे बेहतर तो ये होगा कि हम इसे किसीको बेच दें क्योंकि ये फिल्म वेब प्लेटफॉर्म पर बेहतर लगेगी. लेकिन ऐसा करना भी ठीक नहीं है क्योंकि हमने उसे इसके लिए नहीं बनाया था. ‘सेक्रेड गेम्स’ वेब के लिए बनाया गया है. सिनेस्तान के लोगों ने कोशिश की तो हमने सोचा कि चलो देखते हैं कि एफसीएटी (FCAT) क्या कहती है. उन्होंने बस एक रिप्लेसमेंट करके फिल्म को यू/ए सर्टिफिकेट से पास किया. अक्षत ऐसे व्यक्ति हैं कि वो ही ऐसी फिल्में बना सकते हैं. ये बहुत ही मजेदार है. इसमें सही भाषा का इस्तमाल किया गया है, सरल है और इसकी एक ऑडियंस है.

अपनी फिल्मों के साथ करते हैं एक्सपेरिमेंट

अपनी फिल्मों के साथ नए प्रयोग करना मुझे पसंद है. जब आप एक डायरेक्टर के साथ काम कर रहे होते हैं तब आप कई सारी पागलपांति करते हैं जो कि मजेदार है. जब आप घरपर होते हैं तब आप अपनी जिंदगी जीते हैं. अच्छा होता अगर आप उसे अपने काम में मिक्स कर सकें. एक अच्छे एक्टर की पहचान ये है जो दर्शकों में बिकता है और साथ ही समय समय पर अच्छे चॉइस भी करे. कोई ऐसा जो सिर्फ अंक पर ध्यान लगाए नहीं बैठा है बल्कि अपनी कला का भी ख्याल रखता है.

वेब सीरीज करने वाले पहले स्टार हैं सैफ

एक एक्टर होने की रेप्युटेशन मुझे पसंद है. इससे मेरा मतलब ये है कि इन दिनों मैं एक स्टार से ज्यादा एक्टर की तरह सोचता हूं. मुझे अपनी क्रिएटिविटी के साथ संतुष्ट होना है और इसे करते हुए खुश रहना है. मुझे किसी भी रूल्स को फॉलो नहीं करना है और साथ ही किसी प्रकार की चिंता नहीं करनी है. जब तक मेरे पास सच्चाई है मैं मेहनत करता रहूंगा. एक समय था जब मैं थोड़ा आलसी हो गया था लेकिन अब मैं सुबह 7 बजे उठकर सेट पर पहुंच जाता हूं. मेरे मन में अब किसी बात का डर नहीं सिवाए इसके की कुछ चीजें काम करेंगी कुछ नहीं. पर ठीक है.

वेब सीरीज का काम काफी कठिन है

वेब सीरीज का काम काफी मेहनत वाला है. इसके लिए लगातार 12 घंटे शूटींग होती है और कभी-कभी लंच ब्रेक भी नहीं करते जो कि सिर्फ 20 मिनट का होता है. इसे करीब 30 मिनट का होना चाहिए. कॉन्ट्रैक्ट में ये ठीक तरह से होना चाहिए. आपको लंच के लिए झगड़ना पड़ता है और अब मैं भी वहीं जा रहा हूं.

विक्रमादित्य मोटवाने के साथ काम को लेकर सैफ ने कहा

ये एक ग्रेट एसोसिएशन है. वो एक अच्छे निर्देशक हैं और एक अच्छी परफॉरमेंस देने के लिए आपको प्रेरित करते हैं. इस स्टेज पर उनके साथ काम करने को लेकर खुश हूं. अब मुझे लगता है कि मैं अपने काम में अच्छा हूं. विक्रम मौजूदा कम्पटीशन से वाकिफ हैं और इसलिए हम ‘नारकौस’ से भी बेहतर शूट कर रहे हैं, भारत एक ऐसा देश है जहां लोग इतनी मेहनत करते हैं और उन्हें पैसे भी ठीक से नहीं मिलते हैं. हमने कई बेहतरीन सेट्स बनाए हैं और बेहतरीन लोकेशन्स पर शूट किया है. इसमें बॉम्बे का एक सिनेमेटिक नजारा दिखाया गया है. ये ‘नारकोस’ सीरीज से भी एक बेहतर होगी. मुझे नहीं लगता कि उसे इतने अच्छे से शूट किया गया है. पहले दो सीजन में वो काफी मनोरंजक है लेकिन हमारी प्रोडक्शन वैल्यू ज्यादा है.

फिल्म ‘शेफ’ बारे में सैफ ने कहा

जब आप एक फिल्म के लिए काम करते हैं तब आप एक डायरेक्टर के लिए काम करते हैं और ये एक डिफिकल्ट काम है. लोग तरह-तरह की बातें करते हैं लेकिन मुझे राजा की कोशिश पसंद आई. देखने में ये थोड़ा यूरोपियन था और मुझे लगता है इसमें और ड्रामा हो सकता था. आमतौर पर वो ड्रामा अवॉयड करते हैं भले ही ‘एयरलिफ्ट’ में थोड़ा ड्रामा जरूर था. ‘शेफ’ की बात करें तो इसके फ्लेवर थोड़ा वेस्टर्न था. मैं नहीं जानता कि जवाब क्या है. लेकीन मुझे अच्छे रिव्युज मिले. पर कुछ चीजें आपके बस में नहीं होती है. ये दुखद है. काश वो और बेहतर कर पाती पर अब मुझे लगता है कि लोगों को अलग प्रकार की फिल्में पसंद आती है. मुझे नहीं लगता कि इसे ठीक तरह से प्रमोट किया गया था. फिल्म को लेकर ज्यादा क्रेज नहीं था. कई बार लोगों को फिल्म की मार्केटिंग पर खर्च नहीं करना होता है और फिर वो आपको ‘बिग बॉस’ और ‘कॉमेडी नाइट्स विद कपिल’ जैसे शोज पर भेज देते हैं जहां एक्टर अपनी फिल्म के बारे में बात करते हैं ये सोच कर कि इससे कुछ मदद मिलेगी. पर ऐसा नहीं होगा. अगर उन्हें ट्रेलर पसंद आएगा तो वो फिल्म देखने जरूर जाएंगे. पर अगर आप 100 इवेंट्स पर जाएंगे और लोगों से कहेंगे कि आपकी फिल्म देखें तो ये काम नहीं आएगा.

फिल्म ‘केदारनाथ’ से सारा अली खान के डेब्यू पर सैफ ने कहा

सारा को लेकर मैं काफी एक्साइटेड हूं. मुझे लगता कि जब मैं उस फिल्म के रिलीज होने के करीब होऊंगा तब मुझे लगेगा कि मेरी ही फिल्म रिलीज हो रही है.  मैंने ‘केदारनाथ’ का फर्स्ट लुक नहीं देखा है. मैं इंतजार करूंगा क्योंकि मुझे उसे ठीक तरह से देखना है. अभी से एक्साइटेड होना जल्दबाजी होगी. उसके अलावा मुझे लगता है कि सब अच्छा होगा.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi