S M L

किसी की शारीरिक बनावट पर कभी तंज नहीं कसना चाहिए-अभिलाष थपलियाल

‘दिल जंगली’ के एक्टर अभिलाष थपलियाल से हुई बातचीत के कुछ अंश

Updated On: Jan 09, 2019 07:48 PM IST

Arbind Verma

0
किसी की शारीरिक बनावट पर कभी तंज नहीं कसना चाहिए-अभिलाष थपलियाल

दिल जंगली को लेकर आपका एक्सपीरियंस कैसा रहा?

देखिए..फिल्म को लेकर एक्सपीरियंस तो कमाल का रहा लेकिन फिल्म नहीं चल पाई. हां, इतना जरूर कहूंगा कि बहुत सारे रिश्ते मेरे वहां पर चल गए और वो एक अच्छी बात रही. डायरेक्टर और प्रोड्यूसर्स के साथ बॉन्डिंग अच्छी बन गई. तापसी पन्नू, साकिब सलीम, जैकी भगनानी और फिल्म की डायरेक्टर आलिया के जैसे अच्छे दोस्त बने जो कमाल की बात है.

फिल्म मिलने से पहले किस तरह की परेशानी का सामना करना पड़ा?

देखिए...फिल्म मिलने में मुझे कोई परेशानी नहीं हुई. मैं हमेशा से रेडियो जॉकी रहा हूं. पैसे कमा रहा था. रेडियो में एक फेमस नाम था और लोग सुनते थे. मैं 11 साल से रेडियो के साथ जुड़ा रहा. मैंने दिल्ली के अलावा मुंबई में भी कई सारे शोज किए. रेड एफएम के साथ ‘कान फाड़’ नाम का शो किया जो काफी हिट रहा. मैं बस अपना काम कर रहा हूं. फिल्म मुझे मजे-मजे में मिल गई थी. फिल्म के बारे में मैंने सोचा तक नहीं था. ‘बधाई हो’ के डायरेक्टर से हमारी मुलाकात एक रेडियो शो के दौरान हुई थी. उनके सामने ही मैंने एक परफॉर्मेंस की जो उन्हें बेहद पसंद आ गई और उन्होंने कहा कि तुम तो विजुअल वाले लड़के हो. फिर उन्होंने अपना नंबर शेयर किया और मैंने मुंबई पहुंचने के बाद उनसे बात की तो उन्होंने कहा कि मेरी एक पार्टनर एक फिल्म बना रही हैं और उसमें तुम्हारे लिए एक रोल है तो मैंने कर ली. इस तरह से मुझे पहली फिल्म मिली. फिर टीवी शोज में काम मिलने लगे. कलर्स के शो ‘एंटरटेनमेंट की रात’ और सोनी के शो ‘कॉमेडी सर्कस’ में भी काम किया.

टीवी और फिल्म में आपको क्या अंतर लगा?

फिल्म और टीवी में बहुत सारे अंतर हैं. फिल्म का औरा बहुत बड़ा है. टीवी में फिल्म के स्टार्स आते हैं लेकिन फिल्म में टीवी के स्टार्स कम ही आते हैं. टीवी एक्टर्स को लोग कुछ समय बाद भूल जाते हैं लेकिन फिल्म के कैरेक्टर को लोग हमेशा याद रखते हैं. ‘शोले’ के डायलॉग्स आज भी लोग याद रखते हैं.

बॉडी शेमिंग को लेकर आप क्या कहना चाहते हैं?

फैट शेमिंग की बात हमेशा से होती है लेकिन पतले लोगों की बात कभी नहीं होती. अगर मैं बोलता हूं कि एक एक्टर हूं तो लोग कहते हैं कि अच्छा! तुम इतने पतले हो, तुम्हें फिल्म मिल जाती है क्या? इस बारे में बात होनी काफी जरूरी है. स्कीनी शेमिंग के बारे में किसी को कोई जानकारी नहीं है. लोग इसको लेकर काफी ग्रसित हो जाते हैं. किसी के बॉडी के बारे में ज्यादा बातें नहीं करनी चाहिए. अगर हर कोई आपकी बॉडी के बारे में तंज कस रहा है तो आप दिमागी तौर पर भी ग्रसित हो जाते हैं. आप खुद को एक्सेप्ट नहीं कर पाते. किसी को छोटा दिखाने की कोशिश न करें. लड़कियां इस बारे में बात तो करती हैं लेकिन लड़के इस बारे में बहुत ज्यादा बात नहीं कर पाते.

आपके अपकमिंग प्रोजेक्ट्स कौन-कौन से हैं?

एक फिल्म को लेकर बात चल रही है जिसकी शूटिंग मई तक शुरू होने वाली है. दो महीने के भीतर इसकी अनाउंसमेंट भी हो जाएगी. एक और प्रोजेक्ट है जो जल्द ही आने वाली है. फिल्म में मिलने वाला रोल बहुत ही अच्छा है.

लेखक के तौर पर क्या कर रहे हैं?

मैं एक लेखक के तौर पर तो काम नहीं कर रहा लेकिन एक क्रिएटिव के तौर पर मैं इस प्रोजेक्ट को देख रहा हूं. मेरी टीम है जो इसके लिए काम कर रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi