S M L

राइजिंग स्टार: शो में पहुंच रहे हैं सिंगिंग के धुरंधर

शो में अबतक कमाल के सिंगर्स अपनी किस्मत आजमाने आ चुके हैं.

Runa Ashish Updated On: Feb 11, 2017 10:15 AM IST

0
राइजिंग स्टार: शो में पहुंच रहे हैं सिंगिंग के धुरंधर

सिंगिंग रिएलिटी शो ‘राइजिंग स्टार’ के पहले हफ्ते में दर्शकों के सामने कई पहलू आए हैं. देश में पहली बार किसी शो को लाइव टेलीकास्ट किया गया. हालांकि इसमें ही कुछ प्रतियोगियों को 90% से 92% तक के वोट मिले हैं लेकिन शो ने देशवासियों के सामने कई इमोशन को लेकर आने का काम किया है.

मसलन, शो में निशा सरवन नाम की प्रतियोगी को दिखाया गया, जिसके पिता दिल्ली में स्वीपर का काम करते हैं. वहीं इलाहबाद की इशरत नाम जो माता के जगराते में गाती हैं, भी शो में आई, जिसे सुनकर मेंटॉर शंकर महादेवन ने राष्ट्रीय एकता की उपाधि दे दी.

सबसे कमाल के लगे दिलजोत कव्वाली ग्रुप, जिसने ‘बापू सेहत के लिए हानिकारक’ गाने को कव्वाली के रूप में गाया. एक प्रतियोगी कार्तिकी जो महाराष्ट्र के पुणे जिले के आलंदी गांव से ताल्लुक रखती हैं. खालिस मराठी लावणी गाने के बावजूद भी वो लोगों को पसंद आईं. हां, ये हो सकता है कि उनके भाषाई गाने को चुनने की वजह से उनकी दीवार बाकियों के मुकाबले देर से उठी हो. शायद ही लोगों को पता हो कि आलंदी हमारे देश के भक्तिकाल के महान संत तुकाराम महाराज का वास रहा है. यहां भजन गाने की एक अलग परंपरा भी है, जिसे वारकरी संगीत कहा जाता है.

वहीं इस बार के शो में अमेय दाते नाम के एक सिंगर भी आए, जो मोनाली ठाकुर के ही साथ एक रियालिटी शो में टॉप 10 में जगह बना चुके थे लेकिन फिर कहीं गुम हो गए. लेकिन मोनाली ने खुद उनके साथ गाकर अमेय की हौसलाअफजाई की है.

यानी जो लोग शो देखेंगे, पसंद करेंगे और अपने खास ऐप से उन गायकों के लिए वोट भी करेंगे. कम से कम अभी पहले दो एपिसोड देख कर तो ये लगता है.

कलर्स चैनल के सीइओ राज नायक का कहना है कि ‘हिंदुस्तान में पहले किसी ने कभी लाइव शो नहीं किया है. रियालिटी शो नहीं हुआ है. देश में लाइव सिर्फ न्यूज है या स्पोर्ट्स है. हमें यही बात बहुत एडवेंचरस लगी कि हम देश का या एशिया का पहला लाइव रियालिटी शो करने वाले हैं. जब आफ मैच देख रहे होते हैं तो आप मैच के आखिरी ओवरों में रोमांचित होते हैं लेकिन हमारे शो में आप दो या तीन मिनट में आगे क्या होगा जानने के लिए उत्सुक हो जाएंगे.’

अब शो को अपनी विविधता और लाइव जाने की खासियत को एक साथ बनाए रखना होगा क्योंकि जमे जमाए फॉर्मेट पर लोगों को पसंद आना एक बात है तो देश में एकदम नए फॉर्मेट में लोगों को ढालना नई बात है. लेकिन दर्शकों के रुझान को देखकर तो लगता है कि अगर इस स्टेज पर अच्छे टैलेंट आते रहे तो शो को लगातार पसंद किए जाने के आसार भी बढ़ जाएंगे. यानी कंटेंट की जीत होगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
कोई तो जूनून चाहिए जिंदगी के वास्ते

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi