S M L

रिव्यू बीए पास 2 : अति महत्वाकांक्षा से बचने का संदेश

कई कमियों के बावजूद बीएपास 2 को एक साफ सुधरी फिल्म कहा जा सकता है

फ़र्स्टपोस्ट रेटिंग:

Updated On: Sep 14, 2017 09:26 PM IST

Hemant R Sharma Hemant R Sharma
कंसल्टेंट एंटरटेनमेंट एडिटर, फ़र्स्टपोस्ट हिंदी

0
रिव्यू बीए पास 2 : अति महत्वाकांक्षा से बचने का संदेश
निर्देशक: शादाब खान
कलाकार: कृतिका सचदेवा, इंद्रनील सेनगुप्ता, साहो

इस हफ्ते रिलीज होने वाली फिल्म है बीए पास 2. नहीं, ये पिछली बीए पास का सीक्वल नहीं है. इसकी कहानी छोटे शहर भोपाल से आई एक लड़की नेहा (कृतिका सचदेवा) की है जो करियर की तलाश में मायानगरी मुंबई की रुख करती है. यहां उसकी मुलाकात एक रीयल स्टेट एजेंट से होती है जो उसे फिल्मों में काम करने की तरफ प्रेरित करता है.

धीरे-धीरे छोटे मोटे रोल करते हुए नेहा को एड फिल्मों और टीवी में काम मिलने लगता है. लेकिन नेहा की खराब एक्टिंग की वजह से उसे टीवी के रोल से निकाल दिया जाता है.

दुनिया को दिखाने के प्रेशर में नेहा एक बिजनेसमैन रीतेश (इन्द्रनील सेनगुप्ता) से दोस्ती कर लेती है जो उसके लिए फिल्म बनाता है लेकिन जब दोनों काफी करीब आ जाते हैं तो नेहा उसके सामने शादी का प्रस्ताव रख देती है. पर रीतेश पहले से ही शादीशुदा निकलता है. जिसके बाद नेहा काफी डिस्टर्ब हो जाती है और नशे की आदत को गले लगा बैठती है. उसकी हालत बिगड़ने लगती है और फिर उसकी लाइफ में आता है एक और बड़ा टर्न.

डायरेक्शन

फिल्म का डायरेक्शन शादाब खान ने किया है जो पहले खुद भी मॉडल रह चुके हैं. शादाब की ये पहली फिल्म है और इसे देखकर कहा जा सकता है कि उन्हें अभी काफी कुछ सीखना पड़ेगा. फिल्म की स्टोरी काफी धीरे-धीरे आगे बढ़ती है जो आज की फास्ट मूविंग जेनेरेशन के दर्शकों को बोर कर सकती है. स्टोरी पर काम करने की जरूरत और ज्यादा थी. जिससे दर्शकों को उनके वक्त और पैसे दोनों का सही मनोरंजन मिल सके.

एक्टिंग

कृतिका श्रीवास्तव ने फिल्म में ठीकठाक एक्टिंग की है. उनके साथ इंद्रनील सेन गुप्ता और शुभांगी लटकर ने भी अपने अपने किरदारों के साथ न्याय किया है. साहो ने रीयल स्टेट एजेंट की भूमिका निभाई है, साहो के रोल को शुरू से ही नेहा के आसपास ही दिखाया गया है जो बाद में निगेटिव हो जाता है. साहो ने इस भूमिका को अपने रोल के मुताबिक ठीकठाक निभाया है.

म्यूजिक

हालांकि फिल्म में अंकित तिवारी का गाना है जो सुनने में अच्छा है लेकिन फिल्म में और अच्छे संगीत की जरूरत थी क्योंकि इस फिल्म में ट्विस्ट एंड टर्न्स काफी कम हैं ऐसे में अच्छा संगीत जरूर दर्शकों को थोड़ी राहत दे सकता था.

वरडिक्ट      

कई कमियों के बावजूद बीएपास 2 को एक साफ सुधरी फिल्म कहा जा सकता है. हमारी तरफ से इस फिल्म को मिलते हैं 3 स्टार्स.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi