S M L

#MeToo: दीपिका और अनुष्का की राय पर असहमत रानी मुखर्जी क्यों हो गईं ट्रोल?

रानी मुखर्जी ने कहा कि एक औरत होने के नाते आप में खुद इतनी हिम्मत तो होनी ही चाहिए कि अगर आपके सामने कोई ऐसी स्थिति आए तो आप उस आदमी को पीछे हटने के लिए कह सको

Updated On: Dec 31, 2018 01:09 PM IST

FP Staff

0
#MeToo: दीपिका और अनुष्का की राय पर असहमत रानी मुखर्जी क्यों हो गईं ट्रोल?

साल 2018 में जिन मुद्दों ने सबका ध्यान अपनी तरफ खींचा, उनमें मीटू मूवमेंट भी एक था. बॉलीवुड में मीटू कैंपेन की शुरुआत तनुश्री दत्ता से हुई. एक न्यूज चैनल को इंटरव्यू देते हुए तनुश्री दत्ता ने अपने साथ एक फिल्म के सेट पर हुए यौन उत्पीड़न के बारे में बताया. तनुश्री दत्ता के इस खुलासे कई लोग चौंक गए थे क्योंकि उन्होंने आरोप बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता नाना पाटेकर पर लगाए थे.

इसी के बाद कई महिलाएं सामने आई और मीटू मूवमेंट के तहत अपनी साथ हुई यौन उत्पीड़न की घटनाएं सोशल मीडिया के जरिए लोगों के सामने रखीं. इस अभियान के तह राजनीति से लेकर बॉलीवुड तक कई बड़ी हस्तियों की पोल खोली गई, और देखते ही देखते ये अभियान देशभर में चर्चा का विषय बन गया.

हाल फिलहाल में एक बार फिर मीटू मूवमेंट का मुद्दा चर्चा में आया है. लेकिन इस बार मामला कुछ अलग है. दरअसल हाल ही में CNN-News18 के राजीव मसंद द्वारा संचालित एक्ट्रेस राउंडटेबल 2018 में, दीपिका पादुकोण, अनुष्का शर्मा, आलिया भट्ट और रानी मुखर्जी  जैसे सितारों ने चर्चा की थी कि #MeToo अभियान के तहत क्या कहा जाना चाहिए.

इस दौरान जब पूछा गया कि मीटू अभियान से क्या बदलाव आए हैं तो अनुष्का ने कहा कि इससे लोग अब ज्यादा आत्म अवलोकन हो गए हैं.

अनुष्का ने कहा कि, 'थोड़ा डर का भाव होना चाहिए. आपकी वर्कप्लेस आपके लिए दूसरा पवित्र स्थान होना चाहिए. आपके घर के बाद आपकी वर्कप्लेस ही वो जगह है जहां आपको सबसे सुरक्षित महसूस करना चाहिए और अगर आप ऐसा महसूस नहीं कर रहे हैं तो यह सबसे खराब दुनिया है जिसमें हमें रहना है.'

रानी मुखर्जी ने क्या कहा?

रानी मुखर्जी ने इस बात पर कहा कि एक औरत होने के नाते आपमें खुद इतनी हिम्मत तो होनी ही चाहिए कि अगर आपके सामने कोई ऐसी स्थिति आए तो आप उस आदमी को पीछे हटने के लिए कह सको. उन्होंने कहा एक औरत होने के नाते आपको खुद पर विश्वास करना होगा कि आपमें इतनी हिम्मत है कि आप किसी को पीछे हटने के लिए कह सकें.

रानी मुखर्जी की इस राय दीपिका पादुकोण ने एतराज जताते हुए कहा कि, 'मुझे नहीं लगता कि हर कोई उस तरह के डीएनए के साथ बना होता है.'

रानी मुखर्जी ने आगे कहा कि, ' आपको खुद की जिम्मदारी खुद लेनी पड़ेगी. हर स्कूल में मार्शल आर्ट्स और सेल्फ डिफेंस सिखाना अनिवार्य कर देना चाहिए.

हालांकि दीपिका और अनुष्का दोनों की रानी मुखर्जी की राय सहमत नहीं थे. दीपिका ने कहा कि हम स्थिति को इस हद तक पहुंचने ही क्यों दें कि लड़कियों को सेल्फ डिफेंस सिखना पड़े. अनुष्का ने भी दीपिका से सहमति जताई लेकिन रानी मुखर्जी अपनी राय पर अड़ी रहीं. दीपिका ने आगे कहा कि, 'आप किसी मां को ये नहीं बता सकते कि वो अपने बच्चे को कैसे बड़ा करें.

केवल दीपिका और अनुष्का ही नहीं, रानी मुखर्जी की ये राय बाकी लोगों को भी पसंद नहीं आई और उन्हें सोशल मीडिया पर ट्रोल किया जाने लगा. देखिए लोगों ने क्या-क्या कहा-

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi