S M L

R K Studio on Sale : कपूर खानदान के लिए आर के स्टूडियो को चलाना हो रहा था मुश्किल

रणधीर कपूर ने बताई दिल की बात - कहा भारी मन से लेना पड़ा है पारिवारिक विरासत को बेचने का फैसला

Updated On: Aug 28, 2018 12:25 AM IST

Bharti Dubey

0
R K Studio on Sale : कपूर खानदान के लिए आर के स्टूडियो को चलाना हो रहा था मुश्किल
Loading...

फिल्मों के दीवानों ने कल से जैसे ही ये खबर सुनी है कि कपूर फैमिली ने आर के स्टूडियो को बेचने का फैसला कर लिया है तब से कई फैंस के दिल बैठ गए हैं. कपूर खानदान की सबसे बड़ी इस धरोहर पर बिकने के बादल तभी से मंडराने लगे थे जब पिछले साल 17 सिंतबर को इसमें आग लग गई थी.

मुश्किल हो रहा था स्टूडियो को चलाना

हिंदी फर्स्टपोस्ट की सीनियर जर्नलिस्ट भारती दुबे से फोन पर बात करते हुए रणधीर कपूर ने बेहद भावुक मन से बताया कि ये उनके परिवार के लिए बड़े दुख का मौका है क्योंकि उन्होंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि एक दिन बॉलीवुड के इस सबसे मशहूर स्टूडियो को बेचने की नौबत तक आ जाएगी.

R K Studio

रणधीर कपूर के मुताबिक पिछले साल लगी भयंकर आग ने इस स्टूडियो की खूबसूरती को छीन लिया था. ज्यादातर स्टार्स अब यहां शूट करने जाने से कतराने लगे थे, जिसकी एक और वजह चेंबूर इलाके की खराब सड़कें और ट्रैफिक भी है. लंबे वक्त से किसी शूट का यहां न होना भी इसके गुजारे का संकट बन गया था. रणधीर कपूर ने बताया कि उन्होंने साल भर पूरे स्टाफ की सैलेरी दी है.

न लाइट है और न लाइसेंस

पिछले साल भर में जब से शूट में किसी ने दिलचस्पी नहीं दिखाई तो आर के स्टूडियो ने शूट का लाइसेंस भी रिन्यू नहीं कराया. यानी फिलहाल स्टूडियो के पास शूट करने का जरूरी लाइसेंस भी नहीं है. जब से स्टूडियो ेमं आग लगी है तब से लाइट की व्यवस्था भी ठीक तरह से नहीं है. नए स्टूडियो को बनाने के लिए ऑटोमैटिक दरवाजों और स्रप्रिंकल फुव्वारों को लगाने का खर्चा इतना ज्यादा है कि इतना पैसा लगाना और फिर उसे वापस पाना परिवार के लिए आसान नहीं  है. 70 साल पुराने इस स्टूडियो को चलाने की तमाम कोशिशों के धूमिल हो बाद कपूर खानदान ने भारी मन से अब इसे बेच देने का फैसला किया है.

करीना कपूर भी हुईं भावुक

लैक्मे फैशन वीक के फिनाले में मोनीशा जयसिंह के लिए रैंप पर चलीं करीना कपूर से भी कल जब आर के स्टूडियो के बिकने पर सवाल पूछा गया तो वो भी काफी भावुक हो उठीं. करीना ने बताया कि उनके बचपन की यादें इस स्टूडियो से जुड़ी हैं. हम सभी भाई-बहन यहां के गलियारों में खेलकर बड़े हुए हैं. अगर मेरे परिवार ने इसके बारे में कोई फैसला ले लिया है तो वो सही ही होगा.

Kareena

मशहूर है आर के स्टूडियो का गणपति

हर साल कपूर खानदान आर के स्टूडियो में गणपति पूजा करता है. परिवार का ज्यादातर सदस्य पूरी भक्ति से इस पूजा में हिस्सा लेते हैं. गणपति का स्वागत से लेकर पूजा-पाठ और उनकी विदाई के लिए साल दर साल से ऋषि कपूर, रणधीर कपूर और राजीव कपूर वक्त निकालते रहे हैं.

आग में हुआ था इतना नुकसान

16 सितंबर 2017 को लगी इस आग ने राजकूपर की फिल्मों से जुड़ी श्री 420, मेरा नाम जोकर और दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड की ट्रॉफी जैसी बहुत सारी चीजें इस आग ने कपूर फैमिली से छीन ली थीं.

रणधीर कपूर जो अक्सर आरके स्टूडियो जाते रहते हैं राज कपूर की यादों से काफी जुड़े हुए हैं. उनसे जुड़ी यादों को कॉस्टयूम्स के तौर पर यहां शीशों में सजाकर रखा गया था, जो आग की भेंट चढ़ गए थे. इस आग ने करीब-करीब हर चीज उनसे छीन ली थी.

आरके स्टूडियो कपूर खानदान के लिए एक लाइफलाइन की तरह था, इसे 1948 से राजकपूर ने बड़ी की शिद्दत के साथ बनवाना शुरू किया था और कई साल की मेहनत के बाद मुंबई के चेंबूर इलाके में आरके स्टूडियो यहां आने वाले लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बना रहता था.

रणधीर कपूर के मुताबिक इस घटना के बाद उनके पास देश विदेश से काफी फैंस के फोन और लेटर्स आए हैं जिसके सपोर्ट के लिए उन्होंने अपने फैंस का शुक्रिया अदा किया है.

आरके स्टूडियो की स्टेज भारत में किसी भी स्टूडियो की स्टेज से सबसे बड़ी थी. आर के बैनर की हर फिल्म यहां शूट हुई और दूसरी फिल्में भी इस स्टूडियो में शूट होती रही हैं. यश चोपड़ा, मनमोहन देसाई और सुभाष घई जैसे बड़े फिल्ममेकर्स ने यहां अपनी फिल्मों का शूट किया है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi