S M L

पद्मावत विवाद: फिल्म बैन की मांग को लेकर राजपूत करणी सेना राष्ट्रपति से मिलेगी

सुप्रीम कोर्ट के फैसले से राजपूत करणी सेना के मेंबर्स बेहद नाराज हैं

Updated On: Jan 19, 2018 12:16 PM IST

Akash Jaiswal

0
पद्मावत विवाद: फिल्म बैन की मांग को लेकर राजपूत करणी सेना राष्ट्रपति से मिलेगी

संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ को लेकर 18 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट ने आदेश जारी कर कहा कि राज्यों को फिल्म पर से बैन हटाना होगा और इसे सभी राज्यों में रिलीज किया जाए. अब सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से नाखुश राजपूत करणी सेना के मेंबर्स ने वापस सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने का फैसला किया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अब सेना के मेंबर्स सुप्रीम कोर्ट की एक डबल बेंच के सामने पेश होकर फिल्म बैन की अपील करेंगे. सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी ने एक वीडियो मेसेज में कहा, “हम राष्ट्रपति से मिलेंगे. हम इस फिल्म को स्क्रीन होने नहीं दे सकते हैं.”

उन्होंने कहा कि जब एक आम आदमी सुप्रीम कोर्ट जाता है तो उसके केस की सुनवाई के लिए उसे धक्के खाने पड़ते हैं. जबकि संजय लीला भंसाली की एप्लीकेशन की एक ही दिन में सुनवाई हो गई. इससे सुप्रीम कोर्ट में काम करने के तरीकों का अंदाजा लग जाता है. उन्होंने कहा कि हाल ही में 4 सीनियर जज ने भी सुप्रीम कोर्ट के काम करने के तरीकों पर सवाल उठाया था.

पद्मावत पर आया SC का फैसला- राज्यों के लगाए बैन को किया खारिज

सुखदेव ने कहा, “आप जबरदस्ती स्टेट्स पर अपना फैसला कैसे थोप सकते हैं? ये तो अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की हत्या है. सरकार बनाने का क्या मतलब जब उन्हें फैसले लेने का अधिकार ही नहीं दिया जाता? सुप्रीम कोर्ट को ही राज करने दीजिए फिर.” बताया गया कि अगर फिल्म रिलीज हुई तो 24 जनवरी को चित्तौड़गढ़ पर हजारों औरतें आत्महत्या कर लेंगी. इस मामले में करणी सेना ने प्रधानमंत्री को भी पत्रा लिखा है और उनसे जल्द ही मिलेंगे.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi