S M L

2.0: फिल्म को बैन करने की उठी मांग, सैल्यूलर ऑपरेटर्स असोसिएशन ने सेंसर बोर्ड से की शिकायत

साउथ के सुपरस्टार रजनीकांत की फिल्म ‘2.0’ का क्रेज सिनेमाघरों में देखते ही बन रहा है

Updated On: Nov 30, 2018 09:04 AM IST

Arbind Verma

0
2.0: फिल्म को बैन करने की उठी मांग, सैल्यूलर ऑपरेटर्स असोसिएशन ने सेंसर बोर्ड से की शिकायत

साउथ के सुपरस्टार रजनीकांत की फिल्म ‘2.0’ का क्रेज सिनेमाघरों में देखते ही बन रहा है. लेकिन फिल्म के प्रदर्शन के साथ ही इसका विरोध भी शुरू हो गया है. हालांकि, फिल्म को लेकर विरोध प्रदर्शन कोई नई बात नहीं है लेकिन रजनीकांत की फिल्म को लेकर जो विरोध शुरू हुआ है, उसे लेकर बैन करने की मांग भी उठने लगी है.

फिल्म को बैन करने की उठी मांग

रजनीकांत और अक्षय कुमार की आज रिलीज हुई फिल्म ‘2.0’ को लेकर विरोध के स्वर उठने लगे हैं. दरअसल, सैल्यूलर ऑपरेटर्स असोसिएशन (जो कि भारतीय फोन मार्केट का प्रतिनिधित्व करती है) उसने इस फिल्म पर बैन लगाने की मांग की है. असोसिएशन का मानना है कि रजनीकांत और अक्षय कुमार की ये फिल्म मोबाइल फोन्स का नकारात्मक प्रचार करती है. असोसिएशन ने भारतीय सेंसर बोर्ड से फिल्म का सर्टिफिकेट वापस लेने की मांग की है और कहा है कि फिल्म में मोबाइल फोन्स, मोबाइल टावर और मोबाइल सर्विस के खिलाफ बेबुनियादी चीजें फिल्म में दिखाई गई हैं.

फोन्स का गलत प्रचार करती है फिल्म

आपको बता दें कि, जो पत्र ट्रेड के जरिए सेंसर बोर्ड को भेजी गई है, उसमें ‘2.0’ पर ये आरोप लगाया गया है कि ये फिल्म मोबाइल फोन्स और टावर्स पर बिना तथ्य के बातें करती है और बताती है कि इनकी वजह से पक्षियों और वातावरण पर प्रभाव पड़ता है. ये भी आशंका जताई गई है कि फिल्म की कहानी मोबाइल फोन्स के बारे में गलत प्रचार करती है, जो कि भविष्य में लोगों के डर की एक बड़ी वजह बन सकती है. मोबाइल ट्रेड को अक्षय के किरदार से भी शिकायत है. उनका कहना है कि फिल्म में अक्षय का किरदार एक हत्यारे के रूप में दिखाया गया है और इसका निर्माण मोबाइल फोन्स से होता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi