विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

उस्ताद ज़ाकिर हुसैन ने किया राहुल बोस की 'पूर्णा' का म्यूजिक रिलीज

राहुल बोस की फिल्म पूर्णा एवेरस्ट की चढ़ाई करने वाली आदिवासी लड़की की कहानी है.

Runa Ashish Updated On: Mar 04, 2017 08:37 AM IST

0
उस्ताद ज़ाकिर हुसैन ने किया राहुल बोस की 'पूर्णा' का म्यूजिक रिलीज

उस्ताद ज़किर हुसैन स्टेज पर अफ्रीकी वाद्ययंत्र जेंबे बजाने के लिए पहुंचे और उन्होंने अपने सैंडल्स स्टेज के नीचे ही उतार दिए और स्टेज को प्रणाम करते हुए जेंबे पर हाथ रखे.

मौका था राहुल बोस की फिल्म 'पूर्णा' के म्यूजिक रिलीज का. इस मौके पर राहुल ने अपनी पहली फिल्म 'एवरीबडी सेज आय एम फाइन' के संगीत निर्देशक रह चुके जाकिर हुसैन को ही बुलाया है, जिन्होंने फिल्म का ऑडियो रिलीज किया.

फिल्म में चार गाने हैं, जिन्हें अरिजीत सिंह और नए गायक राज पंडित ने गाया है. फ़िल्म में संगीत दिया है सलीम सुलेमान ने. इसमें एक गाना 'बाबुल मोरा नैहर छूटो ही जाए' भी अरिजीत की ही आवाज में रिकॉर्ड किया गया है.

फ़र्स्टपोस्ट ने जब इस गाने के बारे में पूछा कि क्या ये कुंदन लाल सहगल के 1939 में फिल्म स्ट्रीट सिंगर के गाने 'बाबुल मेरा नैहर छूटो ही जाए' जैसा है तो संगीतकार सुलेमान ने कहा कि, 'ये एक बिदाई गीत या ठुमरी है जिसका फिल्म में बहुत छोटा सा लेकिन महत्वपूर्ण रोल है. फ़िल्म की मुख्य कालकार अपने पिता के लिए गाती है. पहले के बोल तो के एस सहगल साहब या ठुमरी के गीत से ही लिए हैं. लेकिन आगे के बोल अमिताभ भट्टाचार्य ने लिखे हैं.'

poorna1

ये फिल्म एक 13 साल की लड़की मालावथ पूर्णा पर बनाई गई है जो अपनी हिम्मत के बलबूते माउंट एवरेस्ट पर चढ़ गई है. एक कम पढ़ी लिखी, तेलंगाना राज्य के एक आदिवासी समाज की इस लड़की के इसी जोश और सपने की कहानी को इस फिल्म में दिखाया गया है.

फिल्म के बारे में निर्माता-निर्देशक राहुल का कहना है कि, 'मुझे जब इस फिल्म की कहानी सुनाई जा रही थी. तो मैंने सुनकर कहा कि फिल्म बनाने के लिए पैसे हैं. तो मालूम पड़ा कि पैसे नहीं हैं तो मैंने मन में ठान लिया कि मैं ही ये फिल्म अपने हाथों में ले लेता हूं. वैसे भी हमारे देश में कई तरह की फिल्म बनती है, एक होती है मल्टी स्टारर, एक होती है सिंगल हीरो फिल्म फिर एक होती है. बायोपिक जो बड़े सितारों से सजी होती है. ऐसे में मेरी फिल्म एक नई तरह की फिल्म है, बायोपिक तो है लेकिन बिना किसी सितारे के. पता नहीं ऐसा कोई टाइप है भी या नहीं. मैं भी देखना चाहता हूं.'

आगे राहुल बताते हैं कि 'मैं अपनी इस फिल्म के कंटेंट को ले कर इतना श्योर हूं कि फिल्म 31 मार्च को रिलीज हो रही है और मैं कोशिश में हूं कि पांच दिन पहले ही क्रिटिक्स और मीडिया को दिखा दूं. साथ ही मैं अपनी फिल्म को डिजिटल रूप में दुनिया भर में फैलाने की सोच रहा हूं जल्द ही इस बात का खुलासा भी करने वाला हूं.'

इस फिल्म में राहुल के अलावा बाल कलाकार अदिति इनामदार, आरिफ़ ज़कारिया और हीबा शाह भी काम कर रहे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi