S M L

Birthday Special : छोटे पर्दे से बड़े पर्दे तक सफल रहा प्राची देसाई का सफर

जन्मदिन के मौके पर प्राची ने फर्स्टपोस्ट हिंदी के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत की

Updated On: Sep 12, 2017 07:58 PM IST

Sunita Pandey

0
Birthday Special : छोटे पर्दे से बड़े पर्दे तक सफल रहा प्राची देसाई का सफर

बॉलीवुड में प्राची देसाई उस परंपरा की वाहक हैं जो छोटे परदे से बड़े परदे की ओर सफलता से बढ़ती चली जा रही हैं. सुशांत सिंह राजपूत के बाद प्राची देसाई ही ऐसी है जो अब तक बड़े परदे पर टीवी का परचम लहराने में कामयाब दिख रही हैं. प्राची देसाई का जन्म 12 सितंबर, 1988 को गुजरात में हुआ था.

एकता कपूर के सीरियल से मिला ब्रेक

फर्स्ट पोस्ट से बात करते हुए प्राची ने बताया कि, "उन्होंने अपनी प्रारंभिक पढ़ाई सूरत से की. उसके बाद हायर स्टडीज के लिए पुणे चली गई थी. पुणे में ही उन्हें एक्टिंग का ऐसा चस्का लगा और उन्होंने पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी एक्टिंग में हाथ आजमाने मुंबई पहुंच गई. एकता कपूर के टीवी सीरियल 'कसम से' में उन्हें एक बड़ा ब्रेक मिला.

घर-घर पहचान बनाने में रही कामयाब

इस सीरियल में ‘बानी’ बहु के किरदार में उन्होंने जबरदस्त छाप छोड़ी और घर-घर तक अपनी पहचान बनाने में कामयाब रही. उनकी लोकप्रियता को देखते हुए फरहान अख्तर ने उनके सामने फिल्म का प्रस्ताव रखा और  2008 में प्राची ने बड़े पर्दे पर फिल्म ‘रॉक ऑन’ से कदम रख दिया. फिल्म कामयाब रही और इस तरह प्राची बड़े परदे पर भी अपनी पहचान बनाने में सफल रही.

बड़ी फिल्मों के मिलने लगे ऑफर

इसके बाद प्राची ‘लाइफ पार्टनर’, ‘वन्स अपॉन टाइम इन मुम्बई’ में भी नजर आई. अभिषेक बच्चन की फिल्म ‘बोल बच्चन बोल’ में उन्हें बड़ा किरदार निभाने का मौका मिला. प्राची 2013 में ‘मी और मैं’, 2014 में ‘पुलिसगिरी’ में दिखाई दी. ‘एक था विलेन’ में उन्होंने पहला आइटम डांस किया था. प्राची ‘अज़हर’ फिल्म में इमरान खान के अपोजिट नजर आई थी. 'अज़हर' फिल्म में उन्होंने अज़हरुद्दीन की पत्नी का किरदार निभाया था.

इंडस्ट्री में रूप-रंग के भेदभाव से नहीं बची प्राची

शुरुआती कामयाबी के बावजूद का करियर लड़खड़ाता नजर आया. वजह जो भी लेकिन खुद प्राची देसाई का कहना है कि, "इंडस्ट्री में हर कुछ मनमुताबिक नहीं होता." शिकायती लहजे में प्राची देसाई कहती हैं कि, "मुझे लगता है कि ऐसे कई प्रतिभाशाली कलाकार हैं, जो कुछ कारणों से पीछे छूट जाते हैं. लोग प्रतिभा को अधिक महत्व नहीं देते हैं. रूप-रंग के भेदभाव का शिकार हुई प्राची कहती हैं कि, "मुझे लगता है कि लोग प्रतिभा से अधिक रूप-रंग को जरूरी समझते है और फिल्म जगत भी इसी पर ध्यान देता है.

नवाजुद्दीन की प्रशंसक हैं प्राची देसाई

प्राची देसाई का बताती हैं कि, "वह नवाजुद्दीन सिद्दीकी की बहुत बड़ी प्रशंसक हैं." उन्होंने आगामी लघु फिल्म 'कार्बन’ में नवाजुद्दीन के साथ काम किया है. उनके मुताबिक, "मैं नवाजुद्दीन की बहुत बड़ी प्रशंसक हूं और मानती हूं कि वह सर्वश्रेष्ठ अभिनेताओं में से एक हैं. अपनी खुशी जाहिर करते हुए प्राची कहती हैं कि, "यह अच्छा है कि हम किसी सार्थक फिल्म के लिए साथ आए." प्राची बताती हैं कि, "यह फिल्म 'कार्बन’ ग्लोबल वॉर्मिंग के खतरे पर निर्धारित है, जिसके बारे में सभी जानते हैं, लेकिन बदलाव लाने के लिए कदम उठाने के इच्छुक नहीं है."

कैरेक्टर में डूबकर खुद को किया घायल

प्राची इन दिनों काफी प्रोजेक्ट में व्यस्त हैं, जिनमें से एक फिल्म 'कोशा' है. पिछले दिनों इस फिल्म की शूटिंग के दौरान वो घायल हो गई थी. इसपर उनका कहना है कि, "जी, शूटिंग के दौरान मैं घायल हो गई थी. इस सीन में बिना हैंड रैप के मैंने खुद को ही चोट पहुंचा लिया, जो सीन में बहुत जरुरी था. क्योंकि सीन में मुझे को खुद को गुस्से में दिखाना था और लकड़ी के तख्ते पर पंच मारना था."

प्राची के मुताबिक, "कभी-कभी, हम पूरी तरह से कैरेक्टर में डूब जाते हैं. हालांकि यह दर्दनाक था, लेकिन यह पूरी तरह से इसके जरूरी भी था."

फिल्म 'कोशा' का 60 फीसदी हिस्सा अनिमेशन में फिल्माया गया है. इस फिल्म का निर्माण दिवंगत फिल्ममेकर राज कंवर के बेटे अभय ने किया है. यह कहानी एक ऐसी लड़की के इर्द-गिर्द घूमती है जो एक रॉक-बैंड की मेंबर है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi