S M L

वृद्धाश्रम पहुंची गीता कपूर, सुनाई बेटे की हैवानियत की दास्तान

मैं वृद्धाश्रम जाने को तैयार नहीं थी इसीलिए उसने ये साजिश रची

Updated On: Jun 02, 2017 10:43 AM IST

Hemant R Sharma Hemant R Sharma
कंसल्टेंट एंटरटेनमेंट एडिटर, फ़र्स्टपोस्ट हिंदी

0
वृद्धाश्रम पहुंची गीता कपूर, सुनाई बेटे की हैवानियत की दास्तान

कई दिनों से गोरेगांव के अस्पताल में भर्ती पुराने जमाने की अभिनेत्री गीता कपूर को 1 जून को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई. अब उन्हें यहां से ओल्ड एज होम ले जाएगा. अब वो ओल्ड एज होम में ही रहेंगी.

कई दिनों से बीमार चल रही फिल्म ‘पाकीजा’ के अभिनेत्री गीता कपूर को अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है, लेकिन बुरी बात ये है कि अब वो अपने बेटे के साथ नहीं, बल्कि एक ओल्ड एज होम में रहेंगी.

दरअसल, कुछ दिनों पहले गीता कपूर को उनके बेटे ने अस्पताल में भर्ती करवाया था, लेकिन भर्ती कराने के बाद वो वापिस नहीं आए जिससे कि गीता को अस्पताल का बिल भरने में काफी परेशानी हो रही थी. उनकी ऐसी दयनीय हालत को देखते हुए कई लोगों ने मदद का हाथ बढ़ाया था.

फिल्ममेकर अशोक पंडित और रमेश तैरानी ने अस्पताल के सारे खर्च का जिम्मा उठाया जिसके बाद उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया. अब अभिनेत्री गीता कपूर को एक अच्छे ओल्ड एज होम में शिफ्ट किया जा रहा है जहां उनकी अच्छे से देखभाल हो.

कुछ दिनों पहले गीता की तबियत अचानक ज्यादा खराब हो गई थी जिसके बाद उनके बेटे ने उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया और फिर वापस नहीं आए. पूछताछ करने पर पता चला कि वो जिस घर में रह रहे थे, वो घर छोड़कर भी जा चुके हैं. गीता कपूर को ब्लडप्रेशर की वजह से अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

उनके बेटे को फीस जमा करने को कहा गया तो वो एटीएम से पैसे निकालने गए और फिर वापस ही नहीं आए. अस्पताल वालों ने बहुत कोशिश की उनसे कॉन्टैक्ट करने की, लेकिन वो संभव नहीं हो पाया.

गीता कपूर ने बताया कि उनका बेटा उन्हें चार दिन में एक बार ही खाना दिया करता था. कई बार तो उन्हें कमरे में भी बंद कर देता था. मैं वृद्धाश्रम जाने को तैयार नहीं थी इसीलिए उसने ये साजिश रची.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi