S M L

Shocking: ‘पद्मावती’ से छटने वाले हैं विवादों के बादल? अब एडवाइजरी कमेटी लेगी आखिरी फैसला

इस फिल्म की स्क्रिनिंग 7 जनवरी को होने की बात चल रही है. वैसे ये भी खबरें हैं कि कल ही यानि 28 दिसंबर को भी इस फिल्म की स्क्रिनिंग की जा सकती है

Updated On: Dec 27, 2017 03:26 PM IST

Bharti Dubey

0
Shocking: ‘पद्मावती’ से छटने वाले हैं विवादों के बादल? अब एडवाइजरी कमेटी लेगी आखिरी फैसला

‘पद्मावती’ से विवादों के बादल छटते हुए दिखाई दे रहे हैं. अभी कल ही सीबीएफसी के चेयरमैन प्रसून जोशी ने एडवाइजरी कमेटी के तौर पर कुछ लोगों को बुलाया था ताकि वो फिल्म को एक बार देख लें और उसके बाद तय करें कि इस फिल्म को पास करना चाहिए या नहीं.

इन छ: लोगों में दो ऐसे हैं जिनका सीधा संबंध रानी पद्मावती से है. उनमें से उदयपुर और मासवाड़ा की रॉयल फैमिली है. बाकी के चार इतिहासकार हैं जिनमें से डॉक्टर आर एस खन्ना जो कि अग्रवाल कॉलेज के प्रिंसिपल हैं, दूसरे बी एन गुप्ता हैं जो कि राजपाल यूनिवर्सिटी के हेड हैं, तीसरे व्यक्ति हैं इग्नू दिल्ली के कपिल शर्मा और चौथे हैं सिरोई के महाराज रघुबीर सिंह.

ये लोग लगातार प्री सेंसर बोर्ड बनाने की मांग कर रहे हैं. ऐसे में प्रसून जोशी ने ये बात मान ली है. हालांकि, एडवाइजरी कमेटी के तौर पर आए लोगों ने उनसे कहा कि हम फिल्म तो देख लेंगे मगर सेंसर बोर्ड के साथ हमारी लीगल बाइंडिंग क्या होगी? और हम जो रिफंड करेंगे तो क्या उसका उस हिसाब से एडिशन ऑल्ट्रेशन होगा? इस पर प्रसून जोशी ने कहा कि बिल्कुल ऐसा होगा.

कमेटी के लोगों ने प्रसून जोशी से इस बाबत लिखित में जवाब मांगा है. साथ ही ये भी कहा कि अगर कोई भी शख्स प्रसून जोशी बनकर मुंबई से हमसे बात करेगा तो हम कैसे समझ पाएंगे? इसलिए हमें आप अपना नंबर मेल कर दीजिए. और कहा है कि अगर हम फिल्म को देखने के बाद उसे बैन कर दें तो क्या होगा? फिलहाल प्रसून जोशी ने इसका कोई भी जवाब नहीं दिया है.

आपको बता दें कि, इस फिल्म की स्क्रिनिंग 7 जनवरी को होने की बात चल रही है. वैसे ये भी खबरें हैं कि कल ही यानि 28 दिसंबर को भी इस फिल्म की स्क्रिनिंग की जा सकती है. हालांकि ये संभव तो नहीं लगता मगर कल ही ये बात पता चल पाएगी कि सही मायनों में ये बात किस हद तक सही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi