S M L

पद्मावती: सेंसर बोर्ड से फिल्म को बड़ी राहत, 'पद्मावत' नाम से होगी रिलीज

सेंसर बोर्ड की बनाई कमेटी ने पद्मावती को नकार दिया है. पद्मावती की रिलीज़ को लेकर चल रहे विवाद के बीच सेंसर बोर्ड ने एक कमेटी बनाई थी जिसमें राजपूत समाज और राजस्थान के राजघराने के लोग थे

FP Staff | December 30, 2017, 10:41 PM IST

0

हाइलाइट

Dec 30, 2017

  • 20:39(IST)

    सीबीएफसी के बोर्ड के सदस्य वाणी त्रिपाठी टीकू ने कहा कि पद्मावती को लेकर लोग कृप्या अब अफवाह फैलाना बंद करें. सीबीएफसी ने यूए सर्टिफिकेट के लिए किसी कट के लिए नहीं कहा है बल्कि निर्माताओं की सहमति से सिर्फ टाइटल में बदलाव और कुछ बदलाव के लिए कहा. अब यह विवाद खत्म है और फिल्म को रिलीज होने दें उसके बाद ही इसे जज करें   

  • 16:42(IST)

    फिलहाल सेंसर बोर्ड की प्रक्रिया चल रही है. इस मामले पर नए साल में पूरी जानकारी आ सकती है.

  • 16:41(IST)

    फिल्म देखने वाले पैनल में राजा अरविंद सिंह, उदयपुर, जयपुर विश्वविद्यालय के प्रोफेसर के.के. सिंह और डॉ. चंद्रमणि सिंह भी शामिल थे. अब इंतजार इस बात का है फिल्म जनवरी में ही रिलीज कर दी जाएगी या इसके लिए लंबा इंतजार करना होगा.

  • 16:39(IST)

    पहलाज निहलानी ने कहा कि फिल्म को सीबीएफसी द्वारा साइडलाइन कर दिया गया. यह सेंसर बोर्ड की विश्वनीयता के उपर सवाल खड़ा करता है. कट्स की वजह से निर्माताओं को भारी नुकसान हुआ.

  • 16:34(IST)

    सेंसर बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष पहलाज निहलानी ने पद्मावती विवाद पर कहा कि इस फिल्म को देखने से पहले ही इस वेवजह विवाद खड़ा किया गया और कुछ लोगों और राजनीतिक पार्टियों द्वारा कुछ राज्यों में विरोध की वजह से सेंसर बोर्ड ने फैसला पहले ही ले लिया था

  • 16:27(IST)

    सीबीएफसी की जांच कमेटी ने 28 दिसंबर को पद्मावती का रिव्यू किया. जिसके बाद फिल्म को कुछ बदलाव के साथ यूए सर्टिफिकेट देने का फैसला किया है और फिल्म का नाम 'पद्मावत' भी किया जा सकता है. सूत्रों के अनुसार फिल्म में 26 कट्स किए गए हैं

  • 16:26(IST)

    सेंसर बोर्ड द्वारा पद्मावती के नाम को बदलकर पद्मावत करने के बावजूद करणी सेना का कहना है कि वो फिल्म का विरोध जारी रखेगी. और हर सिनेमा हाल के बाहर इस फिल्म के प्रदर्शन को रोकने के लिए उसके समर्थक मौजूद रहेंगे

पद्मावती: सेंसर बोर्ड से फिल्म को बड़ी राहत, 'पद्मावत' नाम से होगी रिलीज

पद्मावती फिल्म के निर्माता को सेंसर बोर्ड की तरफ से बड़ी राहत मिली है. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, सीबीएफसी की जांच कमेटी ने 28 दिसंबर को पद्मावती का रिव्यू किया. जिसके बाद फिल्म को कुछ बदलाव के साथ यूए सर्टिफिकेट देने का फैसला किया है और फिल्म का नाम 'पद्मावत' भी किया जा सकता है.

साथ ही ये भी कहा गया कि जब जरूरत पड़ेगी उस समय पर सर्टिफिकेट जारी किया जाएगा और जिन पर सहमति बनी हैं वो बदलावों कर दिए गए हैं. सेंसर बोर्ड का कहना है कि समाज और फिल्म निर्माता दोनों को ध्यान में रखते हुए फैसला लिया गया है.

सीबीएफसी ने फिल्म को सर्टिफिकेशन देने से पहले एक एक्सपर्ट पैनल को फिल्म दिखाई. सूत्रों के मुताबिक, एक्सपर्ट पैनल ने पद्मावती फिल्म में कई चीजों को लेकर ऐतराज जताया है.  इस पैनल में उदयपुर के अरविंद सिंह और जयपुर विश्वविद्यालय के डॉ.चंद्रमणि सिंह और प्रोफेसर के.के. सिंह शामिल थे.

गौरतलब हे कि फिल्म 18 दिसंबर को रिलीज़ होनी थी मगर भारी विरोध के चलते अभी तक नहीं हो पाई.

दीपिका पादुकोण, रणवीर सिंह और शाहिद कपूर की इस फिल्म पर शूटिंग के समय से विवाद चल रहा है. पिछले साल इस फिल्म के सेट पर निर्देशक संजय लीला भंसाली के साथ भी मारपीट हुई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi