S M L

मुसलमानों को माना जा रहा है देशद्रोही: नसीरुद्दीन शाह

नसीरुद्दीन शाह ने अपील की है कि भारतीय मुसलमान किसी को अपनी देशभक्ति पर सवाल उठाने का मौका न दें

Updated On: Jun 03, 2017 08:59 AM IST

Hemant R Sharma Hemant R Sharma
कंसल्टेंट एंटरटेनमेंट एडिटर, फ़र्स्टपोस्ट हिंदी

0
मुसलमानों को माना जा रहा है देशद्रोही: नसीरुद्दीन शाह

अभिनेता अनुपम खेर, गायक अभिजीत भट्टाचार्य और गायक सोनू निगम के बाद सोशल मीडिया पर इस बार अभिनेता नसीरुद्दीन शाह का गुस्सा जाहिर हुआ है. उन्होंने कहा ‘देश के मुसलमानों को संदेह भरी नजरों से देखा जाने लगा है, कि वो देशभक्त हैं कि नहीं.’

हिंदुस्तान टाइम्स को दिए एक इंटरव्यू में नसीरुद्दीन शाह ने कहा है कि कुछ भारतीय मुसलमानों का झुकाव पाकिस्तान की ओर जरूर है लेकिन उससे कहीं  ज्यादा संख्या ऐसे मुसलमानों की है जिनकी रगों में भारत के लिए देशभक्ति का लहू बहता है.

जब लोग उनकी देशभक्ति पर संदेह करते हैं तो उन्हें बुरा लगता है. देश के मुसलमानों को अब सताया हुआ सा महसूस करना बंद करना चाहिए और किसी को भी मुसलमानों की भारतीयता पर संदेह करने का मौका नहीं देना चाहिए.

नसीर ने मुसलमानों से अपील की है कि उन्हें किसी को भी ऐसा मौका नहीं देना है जिससे कोई भी इस देश पर उनके हक को कम समझे.

नसीर ने कहा कि किसी नवजात बच्चे के कान में जो पहली आवाज जाती है वो या तो अजान की होती है या फिर कलमे की. मेरे कानों में कौन सी आवाज गई थी, ये मुझे याद भी नहीं.

उन्होंने कहा, ‘मैं तो इस्लाम को अब फॉलो भी नहीं करता, दरअसल मेरा परिवार किसी धर्म के साथ नहीं बंधा हुआ है. मेरी पत्नी हिंदू है और जब हमारा बच्चा हुआ तो हमने ये तय किया कि हम स्कूल में उसके एडमिशन के समय मजहब वाला कॉलम खाली छोड़ेंगे.

हालांकि प्रिंसिपल की आपत्ति के बाद भी हमने वो कॉलम नहीं भरा क्योंकि हमें तो पता भी नहीं था कि हमारे बेटे का धर्म उस वक्त क्या था और पता नहीं आगे चलकर क्या होगा.’

नसीरुद्दीन शाह ने कहा भारतीय मुसलमानों को पुराने आक्रांताओं के कामों की सजा के तौर पर दोयम दर्जे के नागरिक जैसा माना जाने लगा है. ऐसे में भारतीय मुसलमानों पर ये जिम्मेदारी और भी बढ़ जाती है कि वो अपनी देशभक्ति पर किसी को उंगली उठाने का मौका न दें.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi