S M L

फिर आया जावेद अख्तर को गुस्सा, कहा-कट्टरपंथियों इंडस्ट्री को दूषित करने की कोशिश मत करो

धर्मनिरपेक्षता के सवाल पर किया कटाक्ष

Arbind Verma Updated On: Mar 29, 2018 02:05 PM IST

0
फिर आया जावेद अख्तर को गुस्सा, कहा-कट्टरपंथियों इंडस्ट्री को दूषित करने की कोशिश मत करो

लेखक और गीतकार जावेद अख्तर ने आमिर खान के जरिए ‘महाभारत’ में काम किए जाने पर उठने वाले सवाल पर एक बार फिर से अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा है कि, ‘भारतीय फिल्म इंडस्ट्री धर्मनिरपेक्षता का गढ़ है और यहां सांप्रदायिक पूर्वाग्रह या पक्षपात की कोई गुंजाईश ही नहीं है.’

धर्मनिरपेक्षता के सवाल पर किया कटाक्ष

गीतकार जावेद अख्तर ने सोशल मीडिया पर कुछ लोगों के जरिए आमिर खान के ‘महाभारत’ में काम करने को लेकर सवाल उठाए थे. जिस पर जावेद अख्तर ने कहा कि, ‘मैं साल 1965 में फिल्म इंडस्ट्री से जुड़ा था और मेरी तनख्वाह 50 रुपए महीना थी. मैंने इन 53 सालों में किसी भी क्षण हमारी इंटस्ट्री में किसी तरह के जातिवाद और पक्षपात का अनुभव नहीं किया. ये फिल्म इंडस्ट्री धर्मनिरपेक्षता का गढ़ है. कट्टरपंथियों, इसे दूषित मत करने की कोशिश करो.’

50 रुपए महीने के वेतन पर उठाया सवाल

एक ट्विटर यूजर ने जावेद अख्तर के 50 रुपए महीने वेतन और धर्मनिरपेक्षता की टिप्पणी पर सवाल उठाया तो जावेद अख्तर ने कहा कि, ‘मैं ये बताना चाहता हूं कि जब मैं आर्थिक और सामाजिक रुप से बहुत ही कमजोर स्थिति में था, तब भी मैंने कम से कम किसी भी सांप्रदायिक आधार पर किसी तरह का भी भेद-भाव महसूस नहीं किया.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi