विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

Controversy: अब महिला आयोग की शरण में रिया पिल्लई, वकील कर रहे हैं परेशान

रिया पिल्लई और लिएंडर पेस के बीच चल रहे घरेलू हिंसा मामले की कड़ी और अब उलझती जा रही है

Bharti Dubey Updated On: Oct 28, 2017 11:18 AM IST

0
Controversy: अब महिला आयोग की शरण में रिया पिल्लई, वकील कर रहे हैं परेशान

रिया पिल्लई ने नेशनल विमेंस कमीशन में एक अर्जी दाखिल करके अपने घरेलू हिंसा के मामले की तहकीकात के दौरान एक आब्जर्वर अपॉइंट किए जाने की मांग की है. उन्होंने लिएंडर पेस के वकील पर उत्पीड़न का आरोप लगाया है.

एक स्टेटमेंट में रिया ने कहा, “मैं नेशनल विमेंस कमीशन में अर्जी दाखिल करके अपने केस में एक आब्जर्वर नियुक्त किए जाने की रिक्वेस्ट कर रही हूं. मैं कोर्ट का सहयोग कर रही हूं और जो भी दस्तावेज मुझसे मांगे गए हैं मैंने वो सभी दिए हैं और साथ ही समय समय पर कोर्ट में उपस्थित रही हूं. अधिवक्ता मिस्टर. अबाद पोंडा ने भी मुझे शर्मिंदा किया है और परेशान किया है. उन्होंने मुझपर सेक्सिस्ट कमेंट्स किए हैं. मैं इस चीज के लिए कोर्ट के सामने नहीं आई थी. मैं यहां कोर्ट से प्रोटेक्शन के लिए आई थी ना कि सेक्सिस्ट और आपत्तिजनक कमेंट्स के लिए.”

रिया ने बताया कि जब उन्होंने उस वकील से किसी विषय पर बात करना चाहा तो वो चिढ़ गए और उनसे बदतमीजी से बात करने लगे और कहा, “मुझे तो पता भी नहीं कि तुम जैसी को किस नाम से पुकारूं. तुम्हारे लिए मैं किस सरनेम का इस्तमाल करू ये भी नहीं समझ में आ रहा है.”

हालांकि जब मीडिया ने ये सभी बातों को पोंडा से पूछा तो उन्होंने इन आरोप को खारिज कर दिया. पोंडा ने कहा, “ये सब झूठ और बेबुनियाद है. ये दुख की बात  है कि वो अब मझे निशाना बना रही हैं. कोर्ट की सारी प्रक्रिया रिकॉर्ड की जाती है और आप एक भी ऐसा शब्द बता दें जो उनके आरोपों को साबित कर सके.”

आगे उन्होंने कहा, “असल बात तो ये है कि वो कोर्ट में दिखाए गए रिकॉर्ड पर साबित की जा रही बात को मान नहीं पा रही हैं. मैंने उनसे हमेशा विनम्रता और प्रेमपूर्वक बात की है.”

passport 2 001 - Copy

बता दें कि रिया ने लिएंडर पेस के पासपोर्ट की कॉपी की भी मांग की है. उन्होंने कहा कि लिएंडर के फरवरी 19, 2008 के पासपोर्ट में पत्नी के स्थान पर रिया का नाम मौजूद है.

passport 3 001 - Copy

इसी के साथ कैमरा हियरिंग के दौरान पेस के लॉयर इश्वर नन्कानी ने कहा, “ये बदकिस्मती की बात है कि एक बड़े और सीनियर लेवल के वकील द्वारा सलाह दिए जाने के बाद भी वो इस हद तक गिर रही हैं. उन्होंने आज कोर्ट में करवाई की शुरुआत से पहले भी ऐसे ही आरोप लगाए. जब उन्हें कहा गया कि अपनी बातों को स्पष्टरूप से रखें तो वो ऐसा नहीं कर पाई. कोर्ट ने उनके आरोपों को खारिज कर दिया और फिर कार्यवाई शुरू की गई. कोर्ट भी ठीक उसी तरह से सभी एविडेंस को रिकॉर्ड कर रही है जिस तरह से उसे पूछा और दर्ज किया जा रहा है. उन्होंने आज जब कैमरा ट्रायल की बात कही तो मिस्टर पोंडा फौरन मान गए.”

आगे उन्होंने कहा, “बिना इजाजत के फोटो लेने के लिए कोर्ट ने तो आज उनके दोस्त को आड़े हाथ लिया और फिर लिखित रूप से माफीनामा देने के बाद ही उनके छोड़ा गया.”

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi