S M L

लास्ट टैंगो इन पेरिस: फिल्म डायरेक्टर की स्वतंत्रता कहां खत्म होती है?

मारिया ने कहा कि शूट के वक्त मार्लोन ने जो किया वो मूवी जैसा नहीं था.

Updated On: Dec 06, 2016 03:02 PM IST

Tulika Kushwaha Tulika Kushwaha

0
लास्ट टैंगो इन पेरिस: फिल्म डायरेक्टर की स्वतंत्रता कहां खत्म होती है?

1972 में आई फिल्म 'लास्ट टैंगो इन पेरिस' की हीरोइन मारिया स्नाइडर ने जब 2007 में फिल्म में दिखाए गए रेप सीन को लेकर बड़ा खुलासा किया था, तब उनपर किसी ने ध्यान नहीं दिया था.

मारिया ने डेली मेल को दिए अपने इंटरव्यू में बताया था कि फिल्म में उनपर जो रेप सीन फिल्माया गया था, उसके बारे में फिल्म के डायरेक्टर बर्नार्डो बार्टोलुची और लीड एक्टर मर्लोन ब्रैंडो ने उन्हें पहले नहीं बताया था. शूटिंग के वक्त जब ये सब कुछ होना था, तब उन्हें पता चला.

maria schneider

मारिया ने कहा, ‘मर्लोन ने मुझसे कहा कि मारिया चिंता मत करो, ये बस मूवी है. लेकिन शूट के वक्त मार्लोन ने जो किया वो मूवी जैसा नहीं था. मैं रो पड़ी थी. मुझे शर्मिंदगी महसूस हो रही थी. अगर मैं सच बताऊं तो मैं किसी रेप विक्टिम जैसा महसूस कर रही थी. शूट खत्म होने के बाद मार्लोन ने मुझसे माफी तक नहीं मांगी.’

ये बात अहम है कि फिल्म के इस सीन का स्नाइडर के मानसिक और शारीरिक सेहत पर बहुत बुरा असर पड़ा था. 2011 में मारिया स्नाइडर की कैंसर से मौत हो गई थी.

ये बयान इतना सामान्य नहीं था जिसे नजरअंदाज किया जा सके. हालांकि, उस वक्त इस बात को ज्यादा हवा नहीं मिली.

हाल ही में बार्टोलुकी का 2013 का एक इंटरव्यू सामने आया है जिसमें उन्होंने स्वीकार किया था कि लास्ट टैंगो इन पेरिस के विवादित बटर रेप सीन के बारे में खुद फिल्म की हीरोइन मारिया स्नाइडर को भी नहीं पता था. सीन में बटर इस्तेमाल करने का आइडिया उन्हें उसी सुबह मार्लोन के साथ नाश्ते के वक्त आया था.

बार्टोलुकी ने कहा था, ‘मैंने मारिया को इस बारे में पहले नहीं बताया था क्योंकि मैं सीन को ज्यादा रियल दिखाना चाहता था. मैं चाहता था कि मारिया सीन में एक्ट नहीं, फील करे.’

बार्टोलुकी को इस गलती का एहसास तो है लेकिन पछतावा नहीं. ऐसा बार्टोलुकी ने खुद उस इंटरव्यू में कहा, ‘मुझे अपनी गलती का एहसास है लेकिन पछतावा नहीं. बतौर डायरेक्टर सीन को बेहतर बनाने के लिए थोड़ी स्वतंत्रता लेनी पड़ती है.’

इस इंटरव्यू के बाद बार्टोलुची को आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था. लेकिन ज्यादा कुछ तब भी नहीं हुआ था.

हाल ही में इस इंटरव्यू को ऑनलाइन पोस्ट किया गया. इसके बाद हॉलीवुड एक्ट्रेस एना केंड्रिक ने इस मामले को फिर से उठाया है.

एना ने कहा,’ ये मामला सच में बहुत बड़ा था लेकिन उस वक्त इसे बड़ी स्टोरी की तरह नहीं देखा गया. शुक्र है कि अब इस मामले को गंभीरता से लिया जाएगा.’

हॉलीवुड स्टार्स ने भी इस मामले पर गुस्सा जताया है. कैप्टेन अमेरिका फेम क्रिस इवान से लेकर जीरो डार्क थर्टी फेम जेसिका चेस्टेन ने ट्विटर पर इस मामले पर विरोध जताया है.

गुस्सा लाजिमी है. 1972 में जब यह फिल्म आई थी तो श्नाइडर की उम्र 19 साल थी और मार्लोन 48 साल के थे, श्नाइडर से लगभग दुगुनी उम्र के. ब्रांडो और बार्टोलुची की ये असंवेदनशीलता हैरान करने वाली है.

इस मामले के फिर से उठने के बाद बर्टोलुची का एक बयान डेडलाइन हॉलीवुड में आया है. बर्टोलुची का बयान है कि ये पूरा मामला बड़ी गलतफहमी का शिकार हो गया है. उनका कहना है कि रेप सीन के बारे में मारिया को पता था. ये सीन स्किप्ट में था. बस बटर के इस्तेमाल वाली बात उनसे छुपाई गई थी.

इस सफाई के बाद भी बर्टोलुची की जवाबदेही कम नहीं हो जाती. एक डायरेक्टर अपने कलाकारों से स्क्रिप्ट के इतर जाकर कुछ भी आउट ऑफ लाइन नहीं करा सकता.

क्या फिल्म के एक सीन में वास्तविकता का पुट लाने के लिए एक डायरेक्टर इस हद तक जा सकता है? क्या ये बात नजरअंदाज की जा सकती थी? क्या मारिया के करियर और मानसिक हालत को बिगाड़ने में इस घटना की भूमिका इतनी छोटी थी? सवाल बहुत से है. लेकिन ये सवाल कहां तक जाएंगे और अब भी कुछ होगा या नहीं, ये भी एक अलग सवाल ही है. लेकिन जिस 19 साल की एक लड़की ने ये मानसिक तनाव और शारीरिक अपमान झेला, वो हमारे बीच से जा चुकी है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi