S M L

एक लेखक की कल्पना हैं 'रानी पद्मावती' : जावेद अख्तर

एक टीवी शो में जावेद अख्तर ने पद्मावती पर किया है खुलासा

Updated On: Nov 12, 2017 03:32 PM IST

Arbind Verma

0
एक लेखक की कल्पना हैं 'रानी पद्मावती' : जावेद अख्तर

मशहूर गीतकार, लेखक और शायर जावेद अख्तर ने कहा है कि, ‘पद्मावती’ की कहानी सही मायनों में ऐतिहासिक है ही नहीं. वो मानते हैं कि ‘पद्मावती’ की कहानी उतनी ही नकली है जितनी कि सलीम और अनारकली की कहानी.

maxresdefault

जावेद अख्तर ‘आजतक’ के शो के दरम्यान ये सारी बातें कह रहे थे. उन्होंने कहा कि, ‘अगर सही मायनों में लोगों को इतिहास में रुचि है तो ऐसी फिल्मों के बजाय किताबों से समझना ज्यादा अच्छा होगा. हालांकि मैं इतिहासकार नहीं हूं लेकिन जो लोग इतिहासकार हैं उनकी बातें पढ़ने के बाद मैं ये आपसे कह रहा हूं.’

ये जरूर पढ़िए - रानी पद्मिनी विवाद: कितने दर्पण तोड़ेंगे, कितनी किताबों के पन्ने फाड़ेंगे?

23-18

एक टीवी शो के डिबेट का जिक्र करते हुए जावेद अख्तर ने कहा कि, ‘मैं टीवी पर इतिहास के एक प्रोफेसर को सुन रहा था. वो कह रहे थे कि ‘पद्मावती’ की रचना और अलाउद्दीन खिलजी के शासनकाल में तकरीबन 200-250 साल का अंतर था. और गौर करने वाली बात ये है कि इतने सालों में जायसी ने ‘पद्मावती’ लिखी ही नहीं. दूर-दूर तक रानी पद्मावती का जिक्र तक नहीं.’

Ranveer Padmavati

आपको बता दें कि रानी पद्मावती के दौर में लिखे गए इतिहास के कहीं साक्ष्य तक नहीं मिलते जबकि अलाउद्दीन खिलजी के बारे में बहुत सारी बातें लिखी गईं और इतिहास में उनके किए सारे काम और उनके जिए हकीकत के किरदारों का अब भी जिक्र है. जावेद साहब ने अपने आगे के कथन में कहा कि, ‘कहानियां बन जाती हैं, उसमें क्या है.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi