S M L

सिंगर लॉयन ने किया अपना म्यूजिक एलबम ‘कम ऑन बेबी’ रिलीज, अंग्रेजी में हैं सारे गाने

लॉयन की रगों में भारतीयता बसी है

Arbind Verma Updated On: Mar 22, 2018 05:51 PM IST

0
सिंगर लॉयन ने किया अपना म्यूजिक एलबम ‘कम ऑन बेबी’ रिलीज, अंग्रेजी में हैं सारे गाने

युवाओं का एक बड़ा वर्ग इंटरनेशनल पॉप सिंगर्स का दीवाना है. आज भी भारत में संगीत के युवा श्रोताओं का एक ऐसा वर्ग है, जिन्हें हिंदी गीतों की बजाय अंग्रेजी गीत पसंद हैं. इनकी आदतों में हम बदलाव नहीं ला सकते. बदलना गायक को ही पड़ेगा कि वो अंग्रेजी गानों के शौकीन श्रोताओं के अनुसार अपना गीत तैयार करें और इंटरनेशनल लेवल पर एक इंग्लिश इंडियन सॉन्ग का डंका दुनिया भर में बज जाए.

9b201ebc-2f24-469b-8810-9de46e9dfa25

लॉयन ने किया एलबम कम ऑन बेबी रिलीज

ऐसा ही कारनामा कर दिखाया है गायक लॉयन ने, जिनका लुक विदेशी दिखता है लेकिन इनकी रगों में भारतीयता बसी है. लॉयन चाहते हैं कि इंग्लिश गीत के जरिए ही वो दुनिया भर को ये दिखा दें कि एक इंडियन सिर्फ हिंदी या अन्य रीजनल लैंग्वेज में ही नहीं, इंग्लिश में भी धमाल कर सकता है और उन्होंने ऐसा कर दिखाया है. पिछले दिनों मुंबई के द व्यू में उनका पहला म्यूज़िक एलबम कम ऑन बेबी रिलीज किया गया. शायद ये पहला मौका है जब किसी इंडियन सिंगर ने अपनी सिंगिंग डेब्यू इंग्लिश सॉन्ग कम ऑन बेबी के जरिए किया है क्योंकि लॉयन नहीं चाहते कि उनका ये एलबम सिर्फ अपने देश की सीमा रेखा तक ही सिमटकर रह जाए. ये गीत दुनिया के हर उस शख्स के लिए है जिसे परिस्थितियों ने हताश किया है. जिन्हें समाज ने हतोत्साहित और अपमानित किया है.

हमें नहीं होना चाहिए कभी हताश

सिंगर लॉयन कहते हैं कि परिस्थितियां चाहें कितनी विपरीत क्यों न हों, कभी हताश नहीं होना चाहिए. अगर आपमें टैलेंट है तो दुनिया को दिखाने का मौका नहीं चूंकना चाहिए. लॉयन ने भी ऐसी विपरीत परिस्थितियों का सामना किया है लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और अपनी आवाज को आगे बढ़ाने का माध्यम बनाया. इसी आवाज़ के जरिए वो दुनिया को दिखा देना चाहते हैं कि भाषा चाहे कोई हो, वे अपने दिल की बात पूरी दुनिया से कहेंगे जिसके लिए उन्होंने इंटरनेशनल प्लेटफॉर्म को चुना और अपनी पहला गीत ही इंग्लिश में गाया. लॉयन शायद देश के पहले ऐसे गायक हैं जिन्होंने अपना पहला म्यूजिक एलबम देसी भाषा में न गाकर इंग्लिश में गाया है जो पॉप की कैटेगिरी में आता है. लॉयन कहते हैं कि अब भाषा के कोई मायने नहीं है. आप अपने दिल की बात उसी भाषा में कहें, जिसे सभी समझ सकें, इसीलिए उन्होंने इंग्लिश को जरिया बनाया.

b7c40675-39a5-42c4-ba22-e2639388bc41

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi