S M L

कॉपीराइट ने बाबूजी को अमिताभ से छीना

अमिताभ बच्चन से छिन सकता है पिता हरिवंशराय बच्चन की कविताओं का मालिकाना हक

Updated On: Mar 19, 2018 03:32 PM IST

Akash Jaiswal

0
कॉपीराइट ने बाबूजी को अमिताभ से छीना

अमिताभ बच्चन इन दिनों कॉपीराइट एक्ट 1957 के नीयम से नाराज हैं. इस बात से तो सभी वाकिफ हैं कि उनके पिता हरिवंशराय बच्चन ने कई सारी लोकप्रिय कविताएं रची हैं जिसे बिग बी ने अपने पास काफी सहेज कर रखा हुआ है. लेकिन अब खबरें हैं कि कॉपीराइट एक्ट 1957 के नियम के अनुसार अमिताभ के हाथ से उनके पिता की इन कविताओं का हक छिन सकता है. इसी के चलते नाराज बिग बी ने इस एक्ट को बकवास तक कह दिया.

क्या है कॉपीराइट एक्ट 1957?

इस एक्ट के तहत कोई व्यक्ति भी किसी भी प्रकाशन और वितरण को एक्ट के तहत दर्ज कराकर मूल रूप से एक निश्चित समय के लिए इसपर अपना मालिकाना हक रख सकता है. एक्ट के नियम के अनुसार मौलिक साहित्य, ड्रामा और म्यूजिक जैसी कोई भी चीज के रचानाकार के निधन के 60 वर्षों के बाद उसका इसपर मालिकाना खत्म हो जाता है. इस एक्ट के इसी नियम पर बिग बी ने खेद जताया है.

अमिताभ ने अपने ब्लॉग पोस्ट में जताई नाराजगी

अमिताभ ने अपने ब्लॉग पोस्ट में इस एक्ट को बकवास बताते हुए कहा कि किसी भी रचानाकार का उसके साहित्य, ड्रामा और म्यूजिक पर सिर्फ 60 वर्ष नहीं बल्कि हमेशा के लिए हक होना चाहिए. ये असल में एक रचनाकार की विरासत होती है ले लेकिन 60 साल बाद ये आम जनता की हो जाएगी. उन्होंने कहा कि बाबूजी (हरिश्वंशराय बच्चन) की कविताओं पर सिर्फ उनका हक है. आगे उन्होंने कॉपीराइट एक्ट 1957 का भी विरोध भी किया और कहा कि वो इसके लिए जरूर लड़ेंगे.

अमिताभ इन दिनों अपनी फिल्म ‘ठग्स ऑफ हिंदुस्तान’ को लेकर काफी बिजी चल रहे हैं. इसके अलावा वो ऋषि कपूर के साथ अपनी आनेवाली फिल्म ‘102 नॉट आउट’ के लिए भी शूट कर रहे हैं.

 

 

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi