S M L

जैकलीन के साथ एक्टिंग करना चाहूंगा: ड्वेन ब्रावो

ड्वेन ब्रावो कलर्स चैनल के शो 'झलक दिखला जा' में नजर आने वाले हैं.

Updated On: Dec 22, 2016 08:05 AM IST

Runa Ashish

0
जैकलीन के साथ एक्टिंग करना चाहूंगा: ड्वेन ब्रावो

क्रिकेट की दुनिया में चौके और छक्के बरसाने के बाद ड्वेन ब्रावो भारत आ गए हैं. इस बार अपने कदमों का बेहतरीन इस्तेमाल वो रन लेने के बजाय एक रियेलिटी शो में डांस करने में करेंगे.

ब्रावो जल्द ही कलर्स चैनल के डांस रियैलिटी शो 'झलक दिखला जा' में संगीत की धुन पर अपनी नृत्य कला का प्रदर्शन करने वाले हैं.  कलर्स के डांस रियेलिटी शो में ब्रावो की क्या स्ट्रैटजी होने वाली है और उनके पसंदीदा हीरो कौन हैं...ये सब जानने के लिए फ़र्स्टपोस्ट संवाददाता रूना आशीष ने ब्रावो से खास बातचीत की....

रुना आशीष: ढिंका चिका-ढिंका चिका गाने पर डांस कर ब्रावो ने ये तो बता दिया कि वो सलमान के फैन हैं, लेकिन उन्होंने किसी डांस रियैलिटी शो में हाथ आजमाने के बारे में सोचा कैसे?

ब्रावो:  ये एक अच्छा मौका था. यह शो भारत का सबसे बड़ा डांस शो है तो मैंने सोचा कि क्यों न ऐसा कुछ करूं जिसे करके मेरे फैंस मुझे कुछ नया करते देखें. वैसे भी ये कुछ ऐसा है जो मेरे कंफर्ट जोन से परे है. मुझे मालूम है कि मुझे बॉलीवुड डांस भी करना होगा. मैं कुछ गाने जानता भी हूं जैसे डिस्को दीवाने या लुंगी डांस और छम्मक छल्लो. मैं एक बार कुछ और गाने भी सुन लूं तो शायद उनके बारे में भी बता सकूंगा.

रुना आशीष: आपने हाल ही में सलमान खान का फेमस टॉवेल डांस भी किया है. उस अनुभव के बारे में क्या कहेंगे.

ब्रावो: मैंने ये गाना पहले भी देखा था. उसमें सलमान हैं. मैंने उसे बहुत एंजॉय भी किया था. मैं तो गाना देख कर हंसता ही रहा. जब मैं यहां आया और मुझे कहा गया कि मुझे इस गाने पर डांस करना है तो मैं तो बड़ा एक्साइटेड हो गया क्योंकि यह एक फन सॉन्ग है. मेरी पार्टनर भावना ने भी मुझे बड़ा कंफर्टेबल महसूस कराया. वैसे बड़ा मुश्किल है कि आप स्टेप्स की प्रैक्टिस करो, फिर उन्हें याद करके सबके सामने परफॉर्म करो. इसके अलावा वहां जज भी मौजूद हों. क्रिकेट की बात अलग है, वो मेरे लिए आसान है लेकिन ये नहीं. फिर भी मैं पूरी मेहनत कर रहा हूं.

रूना आशीष: आपको भारतीय डांस कैसा लगता है?

ब्रावो: मैं ऐसे देश मे रहता हूं जहां 45% भारतीय हैं. उनको मैंने नजदीक से भारतीय रीति-रिवाजों को फॉलो करते हुए देखा है. मुझे यहां के डांस फॉर्म कैरीबियन डांस फॉर्म जैसे ही लगे. कुछ का संगीत भी मिलता जुलता लगा. कुछ-कुछ चीजें अलग है. जब आप ऐसी संस्कृति में  रह रहें हो जहां मनोरंजन जीवन का एक बड़ा हिस्सा है तो चीजें थोड़ी आसान हो जाती है. मैंने भी डांस में अपना कैरीबियन फ्लेवर भी डाला है. कोशिश की है कि यहां के लोगों को पसंद आए.

jhalak dikhhla jaa

तस्वीर झलक दिखला जा के फेसबुक वॉल से

रूना आशीष: कहते हैं कि भारत में दो चीजें हमेशा हिट है क्रिकेट और बॉलीवुड. आप अब दोनों से जुड़ गए हैं. आप तो एक जैसे पूरा कॉम्बिनेशन हैं.

ब्रावो: मैं हमेशा कुछ अलग करना चाहता हूं और मैं खुश हूं कि मैंने एक तीर से दो निशाने मार लिए हैं. मैं ऐसे देश में हूं जहां मुझे फैंस का बहुत प्यार मिलता है चाहे मैं कुछ भी क्यों ना करूं. मैं अपने फैंस के चेहरे पर मुस्कान लाना चाहता हूं, सफल होना चाहता हूं और साथ ही कोशिश है कि मैं अच्छे से पेश आता रहूं. लोगों को इस बात का हौसला देता रहूं कि अपने सपनों के पीछे हमेशा लगे रहें चाहे कुछ भी हो जाए.

रुना आशीष: आप किस किस क्रिकेटर को शो में बुला कर चैलेंज करना चाहेंगे?

ब्रावो: मैं कोहली को अपने शो में बुलाना चाहता हूं क्योंकि वह एक अच्छा डांसर है. कोहली ने मेरे ऐलबम चलो-चलो में भी डांस किया है. वह बड़ी ही सहजता से डांस कर लेता है. टीम का एक सधा हुआ डांसर है. रवीन्द्र जडेजा भी अच्छा डांसर है. मुझे यकीन है सभी अच्छा डांस कर लेंगे. वैसे भी मैं तो ये ही कहता हूं कि अगर आपने भारत में जन्म लिया है तो आप दो चीजें आसानी से कर लेंगे, पहला डांस कर लेंगे और दूसरा क्रिकेट खेल ही लेंगे. मैंने तुम बिन-2 फिल्म में भी एक गाने में डांस किया है और बड़ा मजा आया. वो एक पार्टी सॉन्ग था. अच्छा लगा नए और अलग-अलग लोगों से मिल कर.

ब्रावो आगे कहते हैं:  कोई अच्छा अवसर आया तो मैं फिल्मों में भी एक्टिंग कर लूंगा बशर्ते वो एक पॉजिटिव किरदार हो और मुझ पर सटीक लगे. मौका मिलने पर मैं जैकलीन के अपोजिट एक्टिंग करना चाहूंगा. उनसे दो-तीन बार मिला हूं तो उनके साथ कंफर्ट लेवल ज्यादा होगा. वैसे दीपिका पादुकोण मेरी ऑल टाइम फेवरिट हैं. वैसे सभी हिरोइनें बहुत खूबसूरत हैं. मैं सबके साथ काम करना चाहूंगा.

रूना आशीष: आज जब इतना समय बीत गया है, आपके और स्मिथ के बीच 2005 में विवाद हुआ था. जब आपने कहा था कि साउथ अफ्रीका के इस खिलाड़ी ने आप पर नस्लीय टिप्पणी की थी. अब उस वाकये को कैसे देखते हैं.

ब्रावो: अपने अधिकारों के लिए तो खड़े होना ही चाहिए. मुझे नहीं लगता कि किसी को कठोर और अपमानजनक बातें कहनी चाहिए. साथ ही लोगों को सिस्टम का जबरन और गलत इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. अगर कुछ गलत हो रहा है तो मैं निश्चित तौर पर आवाज उठाऊंगा. मुझे इस बात के कई परिणाम भी भुगतने पड़े. मैं दिल से जानता हूं कि मैंने क्या किया था और मैं उस समय सही था. मैं हमेशा पीपल्स पर्सन रहा हूं तो इस लिहाज से आपको हमेशा अपने लोगों या अपने कर्मचारियों की रक्षा करनी चाहिए. क्योंकि ये वे लोग हैं जो आपके लिए काम करते हैं. मैं आज भी उस विवाद का खामियाजा भुगत रहा हूं लेकिन जब एक दरवाजा बंद होता है तो दूसरा दरवाजा खुलता भी है.

रूना आशीष: आप इन दिनों गॉसिप सर्कल का भी हिस्सा बनते जा रहे हैं. क्या ये ही वो दूसरा दरवाजा है जो खुला है?

ब्रावो: मैं अपने दोस्तों के साथ सिर्फ लंच कर रहा था और जब रेस्तरां से बाहर निकला तो इतनी मीडिया. लेकिन मेरी दोस्त (श्रेया शरण) को मालूम है इस देश के बारे में. इस तरह के लोगों को पापाराजी से सामना करना होता है. लोग उनके पीछे भी आते हैं. मेरे देश में ऐसा नहीं होता. मैं कहीं भी जाऊं कुछ भी करूं किसी को कोई फर्क नहीं पड़ता. वे कभी किसी नाइट क्लब या रेस्तरां के बाहर खड़े हो कर फोटो के लिए इंतजार नहीं करते. लेकिन यहां बात अलग है. श्रेया और मैं सिर्फ दोस्त हैं और वह बहुत खूबसूरत भी हैं.

रूना आशीष: पाकिस्तान और भारत के बीच कुछ दिनों से तनाव का वातावरण है. दोनों देशों की क्रिकेट टीम बहुत अच्छी हैं. ऐसे में आपका क्या कहना है. किसी देश की तरफ से नहीं लेकिन एक क्रिकेटप्रेमी होने के नाते.

ब्रावो: मुझे नहीं मालूम कि दोनों देशों के बीच क्या चल रहा है या तनाव या परेशानी क्यों है. मैंने जब भी भारत-पाकिस्तान को देखा मुझे एक बेहतरीन खेल देखने को मिला. दोनों टीम अच्छा खेलती हैं. बड़ा मजेदार होता है इसे देखना. मैंने कभी भी खिलाड़ियों के बीच कभी कोई खिंचाव या तनाव नहीं देखा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi