S M L

योगी बायोपिक विवाद : फिल्म हुई बंद फिर भी मेकर्स पर बीजेपी ने कराया केस

खबर के मुताबिक मेरठ में भाजपा विधायक सोमेंद्र तोमर ने मेडिकल थाने में फिल्म 'जिला गोरखपुर' के निर्माता-निर्देशक के खिलाफ मामला दर्ज कराया है

Updated On: Aug 01, 2018 01:47 PM IST

Rajni Ashish

0
योगी बायोपिक विवाद : फिल्म हुई बंद फिर भी मेकर्स पर बीजेपी ने कराया केस

उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कथित बायोपिक 'जिला गोरखपुर' को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. हाल ही में फिल्म का एक पोस्टर रिलीज किया गया था जिसके बाद सोशल मीडिया से लेकर हर तरफ फिल्म को लेकर चर्चा शुरू हो गई थी. इसके बाद फिल्म को लेकर जबरदस्त रिएक्शन आया था. फिल्म के निर्माता निर्देशक विनोद तिवारी ने देश और समाज हित में फिल्म को बंद करने की घोषणा की है. पोस्टर के रिलीज होते ही ये बात सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी कि 'जिला गोरखपुर' योगी आदित्यनाथ की बायोपिक है.

फिल्म के निर्माता-निर्देशक विनोद तिवारी ने अपने बयान में कहाः "समस्त देशवासियों को मैं ये सूचित करता हूं कि मेरी फिल्म 'जिला गोरखपुर' की घोषणा के तुरंत बाद जन साधारण के द्वारा सोशल मीडिया में दी गई समीक्षा से मुझे ऐसा प्रतीत हो रहा है कि इसके बारे में स्वतः विभिन्न प्रकार के कयास लगाए जा रहे हैं, जिनका वास्तविकता से कोई लेना-देना नही है किंतु इन कयासों और दुष्प्रचारों से जन साधारण की भावनाएं अवश्य आहत हो रही हैं. चूंकि मेरा उद्देश्य न तो किसी की भावनाओ को आहत करना है ना ही समाज मे किसी प्रकार का विद्वेष फैलाना है. अतः देश तथा समाज के हित में इस प्रोजेक्ट को मैं बंद करने जा रहा हूं."

पोस्टर को लेकर हुआ बवाल

अब आज तक की खबर के मुताबिक मेरठ में भाजपा विधायक सोमेंद्र तोमर ने मेडिकल थाने में फिल्म के निर्माता-निर्देशक के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. दरअसल 'जिला गोरखपुर' के पोस्टर में एक व्यक्ति को भगवा कपड़े पहने और हाथ में रिवाॅल्वर लिए खड़े दिखाया गया है. पास ही एक गाय भी खड़ी दिखाई गई है, सामने मंदिर है. इस पोस्टर के रिलीज होते ही विवाद शुरू हो गया.

इस मामले में मेरठ दक्षिण से भाजपा विधायक सोमेंद्र तोमर ने आपत्ति जताते हुए एक तहरीर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मेरठ को दी. तहरीर में आरोप लगाया गया कि फिल्म के निर्माता निर्देशक ने धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का काम किया है. जिस तरह से पोस्टर दिखाया गया है, उससे समाज में गलत संदेश जाता है. पोस्टर से समाज को बांटने और हिन्दुत्व को लेकर गलत संदेश देने का प्रयास किया जा रहा है.

इस तहरीर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने मामला दर्ज करने का आदेश दिया. इसके बाद रात को ही मेडिकल थाने में फिल्म के निर्माता निर्देशक विनोद तिवारी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi