S M L

Candid Chat : बॉलीवुड में बंद होना चाहिए रि-क्रिएशन गानों का चलन- संगीतकार सलीम

सलीम-सुलेमान की मशहूर संगीतकार जोड़ी के सलीम मर्चेंट का एक्सक्लूसिव इंटरव्यू

Hemant R Sharma Hemant R Sharma Updated On: Jul 05, 2018 08:12 PM IST

0
Candid Chat : बॉलीवुड में बंद होना चाहिए रि-क्रिएशन गानों का चलन- संगीतकार सलीम

एक होटल ब्रांड के साथ सलीम मर्चेंट एक अनोखा संगीत कॉम्पीटीशन लेकर आ रहे हैं, जिसमें जो कोई भी परफॉर्म करके जजों का दिल जीतेगा, उसे ग्लोबल स्तर पर गाने का मौका दिया जाएगा. इसे लॉन्च करने आए सलीम से बात की इस प्रोग्राम और बॉलीवुड के बारे में

सलीम इस प्रतियोगिता के बारे में बताएं?

एक होटल ब्रांड का इस तरह से संगीत के साथ जुड़ जाना, ऐसा पूरी दुनिया में पहली बार हो रहा है. ये कॉम्पीटीशन बढ़ावा दे रहा है उन प्रतियोगियों को जो वहां के लोकल लोग हैं. अपने आप में एक प्लेटफॉर्म दे रहा है संगीत में कुछ कर दिखाने वाले लोगों को.

आप पहली बार इसके साथ जुड़े हैं, आपका रोल इसमें क्या है?

मैं इस प्रतियोगिता से निकलने वाले फाइनलिस्ट को मेंटोर करूंगा. जो बाद में फाइनल में परफॉर्म करके अपने हुनर को दुनिया के सामने पेश करेंगे.

पिछले 7-8 साल से रिक्रिएशन का जो दौर चल निकला है उसे आप कैसे देख रहे हैं?

मैं पर्सनली ये मानता हूं कि ये संगीत के लिए सबसे खराब दौर है. ये गाने हिट भी नहीं होते हैं और एक तरह से कोई इन्हें सुनना भी नहीं चाहता. लेकिन अब प्रचलन चल रहा है तो चल रहा है. रिकॉर्ड लेबल्स को इस स्थिति को समझना चाहिए. इनको लगता है कि ये संगीत चल रहा है तो ये लगातार इसे बनाते जा रहे हैं. संगीतकारों से इन दिनों कोई नहीं पूछ रहा है कि कौन से म्यूजिक चल रहा है या नहीं.

ये जरूर पढ़िए - बॉलीवुड की फिल्मों के गानों में पड़ा क्रिएटिविटी का अकाल

मेरे हिसाब से म्यूजिक का रिक्रिएशन एक बहुत ही घिसा पिटा आइडिया है. एक दो बार प्रयोग हुआ ठीक है लेकिन ये बार बार चलता जा रहा है, वो जरूर परेशान करता है. जो पुराने गाने थे उनको भी लोग पसंद नहीं कर रहे क्योंकि उनका रिक्रिएशन इतना खराब बन रहा है. तो मेरी दिली तमन्ना है कि ये अब बंद होना चाहिए.

क्या है अलॉफ्ट स्टार 2018 कॉम्पीटीशन?

एशिया पैसिफिक के गायक और गीतकारों को उनके ऑरिजनल कॉम्पोजीशन के साथ ‘अलॉफ्ट स्टार 2018’ के कॉम्पीटीशन में आमंत्रित किया गया है. कोई भी फ्रेश टैलेंट इस कॉम्पीटीशन में अपने ऑरिजनल कॉम्पोजीशन के साथ 26 जून से 31 जुलाई तक हिस्सा ले सकता है. जिसमें पसंद किए जाने वाले गानों को यूनिवर्सल म्यूजिक के जरिए रिलीज किया जाएगा.

गीतकार-गायक ले सकते हैं हिस्सा

मैरियट इंटरनेशनल के अलॉफ्ट होटल्स ने यूनिवर्सल म्यूजिक ग्रुप और ब्रान्डस के साथ एक करार किया है, जो कि सालों से म्यूजिक इंडस्ट्री में अपना दबदबा बनाए हुए है. दोनों ने मिलकर अब साल 2018 के एक कॉम्पीटीशन को ढूंढ निकाला है जिसका नाम है ‘अलॉफ्ट स्टार एशिया-पैसिफिक’. इसमें बैंड्स और गीतकारों को आमंत्रित किया गया है, जिसके लिए 26 जून से लेकर 31 जुलाई तक अपने गाने भेजे जा सकते हैं. इस कॉम्पीटीशन का ध्येय बहुत सारे ऐसे टैलेन्ट्स को सामने लाना है, जो किसी वजह से अपनी प्रतिभा को सामने नहीं ला पाते.

28 सितंबर को होगा फिनाले

इस कॉम्पीटीशन को एशिया-पैसिफिक रीजन के लिए शुरू किया गया है. इनमें कई देश ऑस्ट्रेलिया, ग्रेटर चाइना, इंडिया, साउथ-इस्ट एशिया (जिनमें मलेशिया, सिंगापुर और थाइलैंड) और साउथ कोरिया शामिल हैं. एंट्री कराने के बाद यूनिवर्सल म्यूजिक ग्रुप 5 फाइनलिस्ट को चुनेंगे, जिसके बाद सियोल के अलॉफ्ट म्यॉन्गडॉन्ग में 20 सितंबर 2018 को फाइनल शो किया जाएगा. हर एक फाइनलिस्ट 1,00,000 रिवॉर्ड्स प्वाइंट मिलेंगे जिसे वो रिडीम करा सकते हैं.

इस साल इस प्रोजेक्ट के मेंटर होंगे बॉलीवुड सिंगर और कंपोजर सलीम मर्चेंट, जिनोंहेने 100 से भी ज्यादा फिल्मों में अपने गाने दिए हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi