S M L

कॉमेडियन गिरीश ने गुत्थी और डॉक्टर गुलाटी जैसे किरदारों को अभी तक स्टेज पर जीवित रखा है

लाइव शोज में गिरीश हिंदी फिल्मों और कपिल शर्मा शो के कई मजेदार और पॉपुलर किरदार निभा कर देखने वालों को लोट-पोट कर देते हैं

Updated On: Feb 25, 2019 11:05 PM IST

Rajni Ashish

0
कॉमेडियन गिरीश ने गुत्थी और डॉक्टर गुलाटी जैसे किरदारों को अभी तक स्टेज पर जीवित रखा है

गिरीश शर्मा भारत में लाइव इवेंट एंकरिंग की परिभाषा बदल रहे हैं. कई बड़े और पॉपुलर लाइव इवेंट्स की एंकरिंग कर चुके गिरीश आजकल इवेंट के आयोजनकर्ताओं की पहली पसंद बन चुके हैं. गिरीश ना सिर्फ मुंबई बल्कि देश के कोने कोने में अपनी एंकरिंग की वजह से पॉपुलर हो चुके हैं. कॉमेडियन सुनील ग्रोवर के साथ 'कॉमेडी नाइट्स विद कपिल' के एक प्रमोशनल वीडियो में नजर आए गिरीश अब लाइव इवेंट एंकरिंग में नए आयाम हासिल कर रहे हैं. गिरीश जिस भी इवेंट में जाते हैं अपनी एनर्जी, ह्यूमर और हाजिर जवाबी की वजह से हर दिल पर छा जाते हैं. 8 सालों में दुनिया भर में हुए 3000 से ज्यादा लाइव इवेंट एंकरिंग में अपने शानदार अंदाज की वजह से गिरीश ने जबरदस्त फैन फॉलोविंग बनाई है.

एंकर गिरीश शर्मा की खासियत है वो मल्टी-टैलेंटेड होने के साथ एक जबरदस्त एक्टर और कॉमेडियन हैं. लाइव शोज में गिरीश हिंदी फिल्मों और कपिल शर्मा शो के कई मजेदार और पॉपुलर किरदार निभा कर देखने वालों को लोट-पोट कर देते हैं. उनका सबसे मजेदार चरित्र 'छोटा पंडित' है जो फिल्म 'भूल भुलैया' से प्रेरित है. इसके साथ ही वो सुनील ग्रोवर के मशहूर किरदार डॉक्टर गुलाटी और गुत्थी के किरदार को भी लाइव शोज में बखूबी निभाते हुए नजर आते हैं. गिरीश एक पॉपुलर YouTuber भी हैं और युथ में काफी पॉपुलर भी हैं.आपको बता दें कि गिरीश ने 'पागल लड़का' नाम से एक यूट्यूब सीरीज शुरू की थी जो ना सिर्फ भारत बल्कि ही नहीं बल्कि पाकिस्तान और दुबई जैसे देशों में भी वायरल हो गया.

गिरीश उत्तर भारत के उत्तराखंड राज्य के रुद्रप्रयाग जिले के एक छोटे से गाँव 'बिरनो देवल' से हैं और आज वह एंकरिंग उद्योग में एक बड़ा नाम हैं. एसडी कॉलेज अम्बाला कैंट से पढ़े गिरीश डिमरी बताते हैं कि उनको शुरू से ही लोगों को हंसाने का शौक है.

गिरीश कहते हैं "जब भी मैं मंच पर जाता हूं मैं अपने आप से बात करता हूं और कहता हूं कि यह मेरी जिंदगी का आखिरी इवेंट है. क्या ये मेरा सबसे अच्छा प्रदर्शन नहीं होना चाहिए? क्या आज तालियों की गड़गड़ाहट जोर से नहीं होनी चाहिए? जवाब भीतर से आता है- हां. और फिर में अपना बेस्ट देता हूं'

गिरीश बताते हैं कि 'पहले लोग उनके छोटे शहर, हिंदी बोलने और बड़े बड़े सपने देखने की बात को सुन कर हंसते थे. लेकिन अब उनकी कमाल की एंकरिंग, उनके वायरल वीडियोज को देख मंत्रमुग्ध हुए बिना नहीं रह पाते'.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi