In association with
S M L

Exclusive: कालपी नागड़ा-आने वाला वक्त अच्छे कंटेंट वाली फिल्मों का होगा

बॉलीवुड और दक्षिण भारतीय फिल्मों के साथ सिनेकॉर्न ने भी 'तुला कलनार नहीं' के साथ मराठी क्षेत्रीय उद्योग में प्रवेश किया है

Arbind Verma Updated On: Dec 29, 2017 11:06 PM IST

0
Exclusive: कालपी नागड़ा-आने वाला वक्त अच्छे कंटेंट वाली फिल्मों का होगा

सीनेकॉर्न एंटरटेनमेंट एक फिल्म निर्माण और डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी के तौर पर इंडस्ट्री में अब एक जाना-पहचाना नाम बन गया है जिसमें कंटेट आधारित फिल्मों को प्राथमिकता दी जा रही है. सिनेकॉर्न एंटरटेनमेंट के चेयरमैन कालपी नागड़ा ने हमेशा मजबूत कंटेट वाली फिल्मों का समर्थन करने में यकीन किया है जो हर तरह का मनोरंजन प्रदान करती है. अतीत में कई फिल्मों के साथ जुड़ने के बाद हाल ही में अजय देवगन की बहु-भूमिका वाली 'बादशाहो' रिलीज हुई थी और जल्द ही रिलीज होने वाली फिल्म 'पटेल की पंजाबी शदी' के साथ प्रोडक्शन शुरू करने के बाद, सिनेकोर्न एंटरटेनमेंट भविष्य में कुछ बड़ी फिल्मों को प्रोड्यूस करना चाहता है.

जब प्रोडक्शन में हाथ आजमाने के बारे में कालपी से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि, ‘हमारी प्रोडक्शन में आने वाले कॉन्सेप्ट ‘पटेल की पंजाबी शादी’ एक टिपिकल तरह की शादी का कॉन्सेप्ट है जो हमारे दिमाग में है.’ ये विषय मेरे दिल के बहुत करीब था. जैसे ही मैंने इसके बारे में सुना, मैं इस फिल्म को शुरु करना चाहता था क्योंकि कॉमेडी सबसे अच्छी शैली है और ये दर्शकों के दिमाग को अच्छा बनाता है. अब मैं इस फिल्म का बेसब्री से इंतजार कर रहा हूं.

बॉलीवुड और दक्षिण भारतीय फिल्मों के साथ सिनेकॉर्न ने भी 'तुला कलनार नहीं' के साथ मराठी क्षेत्रीय उद्योग में प्रवेश किया है क्योंकि वे हमेशा से इसे एक्सप्लोर करना चाहते थे.

सिनेकॉर्न एंटरटेनमेंट के लिए प्रगतिशील फिल्म निर्माण के अपने दृष्टिकोण के बारे में बात करते हुए, कालपी ने कहा कि, ‘हर कोई मनोरंजन की तलाश में है. हम भी ज्यादा कंटेट वाली फिल्में बनाना चाहते हैं पर हास्य के साथ ताकि हम दर्शकों को खुश कर सकें.’

पिछले कुछ सालों में कालपी ने एक युवा और गतिशील उद्यमी के रूप में अपनी पहचान स्थापित की है. एक अरसे से वो फिल्म इंडस्ट्री में काम कर रहे हैं. '300: राइज ऑफ ए एम्पायर', 'रुस्तम', 'काबिल', 'सुपरमैन बनाम बैटमैन', सिनेकॉर्न एंटरटेनमेंट की फिल्मों के पहले स्लेट के साथ, भारतीय और दक्षिण पूर्व एशियाई बाजारों में कालपी नागड़ा ने फिल्म व्यवसाय में एक महत्वपूर्ण प्लेयर के रूप में अपनी स्थिति को मजबूत किया है.

साल 2009 में सिनेकॉर्न एंटरटेनमेंट की स्थापना करने के बाद कालपी ने मुख्य रूप से एक सामग्री अधिग्रहण, सिंडिकेशन और डिस्ट्रीब्यूशन हाउस के तौर पर काम की शुरूआत की थी. जिसने दुनिया भर में लाइव और एनीमेशन सामग्री को प्रसारित करते हुए पूरे भारत और दक्षिण एशिया में भारतीय और हॉलीवुड की फिल्मों का डिस्ट्रीब्यूशन किया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गणतंंत्र दिवस पर बेटियां दिखाएंगी कमाल!

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi