विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

सेंसर बोर्ड : पहलाज निहलानी की छुट्टी, प्रसून जोशी नए अध्यक्ष, विद्या बालन की हुई एंट्री

पहलाज निहलानी की बर्खास्तगी के लिए क्या उनके फैसले हैं जिम्मेदार?

FP Staff Updated On: Aug 11, 2017 09:51 PM IST

0
सेंसर बोर्ड : पहलाज निहलानी की छुट्टी, प्रसून जोशी नए अध्यक्ष, विद्या बालन की हुई एंट्री

सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन के अध्यक्ष पहलाज निहलानी को उनके पद से हटा दिया गया है. गीतकार प्रसून जोशी सीबीएफसी बोर्ड के नए अध्यक्ष बनाए गए हैं.

फिल्म इंडस्ट्री के अंदर के लोग पहलाज निहलानी के तानाशाही भरे रवैये से काफी परेशान चल रहे थे. काफी बार उनके बारे में मंत्रालय को शिकायतें भी की गईं लेकिन हर बार पहलाज खुद को बचा लेते थे.

स्मृति ईरानी का चला डंडा

जब से स्मृति ईरानी नई सूचना प्रसारण मंत्री बनी हैं वो एक्शन में आ गई हैं. पहलाज निहलानी की विदाई के श्रेय लोग उन्हें ही दे रहे हैं.

ये रहा पहलाज निहलानी को हटाने का नोटिस

ये रहा पहलाज निहलानी को हटाने का नोटिस

बंदूकबाज की चली गोली?

नवाजुद्दीन सिद्दीकी की फिल्म बाबूमोशाय बंदूकबाज को 48 कट्स का फरमान सुनाने के बाद पूरी फिल्म इंडस्ट्री पहलाज निहलानी के खिलाफ हो गई थी. महिला फिल्ममेकर्स ने आरोप लगाए थे कि पहलाज निहलानी की अगुवाई वाले बोर्ड के मेंबर्स इतने निरंकुश हो गए थे कि उन्होंने महिलाओं के ड्रेस तक पर सवाल उठाकर उन्हें सेंसर सर्टिफिकेट देने से मना कर दिया था.

ये हैं नए सदस्य, जिसमें विद्या बालन भी शामिल हैं

ये हैं नए सदस्य, जिसमें विद्या बालन भी शामिल हैं

महिला रिपोर्टर पर लगाया यौन शोषण का आरोप

पहलाज निहलानी ने पिछले हफ्ते एक टीवी चैनल की रिपोर्टर के खिलाफ यौन शोषण जैसा गंभीर मामला पुलिस में दर्ज करा दिया था. पहलाज निहलानी हर किसी के लिए नासूर बन गए थे.

निहलानी का कार्यकाल महज तीन साल रहा. ये तीन साल काफी कंट्रोवर्शियल भी रहे. पहलाज के फैसलों की काफी आलोचना की गई थी. उनकी बर्खास्तगी की खबर बहुत अचानक से आई है. देखते हैं कि इस खबर का क्या असर होता है.

पहलाज निहलानी ने इन तीन सालों में ऐसे कई फैसले लिए, जिसने सीबीएफसी को महज फिल्मों के सीन पर कैंची चलाने वाली संस्था बना दिया था. 'संस्कारी' निहलानी ने कई फिल्मों पर अपनी कैंची चलाई.

हाल ही में उन्होंने अक्षय कुमार की फिल्म टॉयलेट- एक प्रेम कथा के भी कई सीन्स को फिल्म से बाहर कर दिया था, ये बात काफी चर्चा में रही थी क्योंकि अक्षय की इस फिल्म को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान से प्रेरित बताया जा रहा था और पहलाज निहलानी का मोदी प्रेम जगजाहिर है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi