S M L

Web Series: बॉम्बे हाईकोर्ट ने I&B मंत्रालय को जारी किया नोटिस, वल्गैरिटी पर रोक लगाने की उठी मांग

इन दिनों भारत में डेली सोप की जगह अब वेब सीरीज लेते जा रहे हैं. वेब सीरीज ने लोगों के बीच ज्यादा पॉपुलैरिटी हासिल कर ली है

Updated On: Oct 08, 2018 06:09 PM IST

Arbind Verma

0
Web Series: बॉम्बे हाईकोर्ट ने I&B मंत्रालय को जारी किया नोटिस, वल्गैरिटी पर रोक लगाने की उठी मांग

इन दिनों भारत में डेली सोप की जगह अब वेब सीरीज लेते जा रहे हैं. वेब सीरीज ने लोगों के बीच ज्यादा पॉपुलैरिटी हासिल कर ली है. ये एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां पर निर्देशकों से लेकर लेखकों तक को पूरी आजादी मिलती है अपनी कल्पनाओं की दुनिया को आजाद पंख देने के लिए. लेकिन इस पर भी अदालत सख्त हो गया है.

सूचना-प्रसारण मंत्रालय को जारी किया नोटिस

वेब सीरीज का इन दिनों भारत में जबरदस्त क्रेज देखने को मिल रहा है लेकिन निर्देशक इसमें खुलकर वल्गैरिटी भी परोसने लगे जिसके बाद अब इस पर रोक लगाने के लिए बॉम्बे हाईकोर्ट ने सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय को नोटिस जारी किया है और रेगुलेटरी बॉडी बनाने की मांग की है. जस्टिस भूषण धर्माधिकारी और एम जी बिरदाकर की एक खंडपीठ ने I&B मंत्रालय, केंद्रीय मंत्रालय और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, कानून और न्याय मंत्रालय, गृह मंत्रालय और नागपुर पुलिस आयुक्त को 31 अक्टूबर तक नोटिस जारी कर जवाब देने को कहा है.

एक शख्स ने लगाया है PIL

बॉम्बे हाईकोर्ट ने दिव्य गणेश प्रसाद गोंटिया के जरिए दायर की गई याचिका (PIL) के बाद ये आदेश जारी किए हैं. याचिकाकर्ता के वकील का कहना है कि, ‘हमने अदालत के सामने कई उदाहरणों को रखा जिसमें अनियंत्रित अश्लीलता, असभ्य भाषा और अभद्र सीन्स फिल्माए गए हैं. हमने सीरीज बनाने वाले प्रोड्यूसर्स और फिल्ममेकर्स पर न्यूड सीन दिखाने के लिए उचित एक्शन की मांग की है.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi